लोगों के बजट को झटका देने की तैयारी में बिजली विभाग

  • लोगों के बजट को झटका देने की तैयारी में बिजली विभाग
You Are HereChandigarh
Saturday, January 13, 2018-8:09 AM

चंडीगढ़(विजय) : यू.टी. के बिजली विभाग ने लगातार वित्त वर्ष 2018-19 के लिए लोगों के बजट को झटका देने की तैयारी कर ली है। ज्वाइंट इलैक्ट्रिसिटी रैगुलेट्री कमिशन (जे.ई.आर.सी.) के पास विभाग की ओर से फाइल की गई पटीशन में डोमैस्टिक कैटेगरी में कम से कम 20 पैसे प्रति यूनिट के हिसाब से टैरिफ बढ़ाने की सिफारिश की गई है। खास बात यह है कि चंडीगढ़ में विभाग के 2.17 लाख कंज्यूमर्स हैं इनमें से 1.70 लाख कंज्यूमर्स डोमैस्टिक कैटेगरी के हैं। हालांकि इस पटीशन पर अंतिम फैसला कमिशन को लेना है। 

 

दरअसल बिजली विभाग ने कमिशन के सामने पटीशन में करोड़ों रुपए के घाटे की भरपाई के लिए टैरिफ बढ़ाना जरूरी बताया है। इससे पहले सभी कंज्यूमर्स को कमिशन द्वारा मौका भी दिया जाएगा कि टैरिफ न बढ़ाए जाने के पक्ष में डिमांड रख सकते हैं। गौरतलब है कि तीन साल तक कमिशन ने चंडीगढ़ में बिजली के बिल में इजाफा नहीं होने दिया। अप्रैल 2016-17 से पहले 2012-13 में कमिशन ने 14 प्रतिशत तक बिजली का टैरिफ बढ़ा दिया था।

 

लेकिन उसके बाद जे.ई.आर.सी. द्वारा साफ तौर पर कह दिया कि जब तक डिपार्टमैंट कमर्शियल ऑडिट नहीं करवा देता तब तक टैरिफ नहीं बढ़ाया जा सकता। विभाग ने 2015 में कमर्शियल ऑडिट की प्रक्रिया पूरी की थी। जिसके बाद वित्त वर्ष 2016-17 में जिसके ही टैरिफ 17.78 प्रतिशत बढ़ा दिया था। हालांकि वित्त वर्ष 2017-18 में कमिशन द्वारा कोई इजाफा नहीं किया गया था। 

 

सोच-समझकर इस्तेमाल करें बिजली :
अब बिजली जितनी ज्यादा इस्तेमाल करेंगे उतना ही बिल अधिक आएगा। विभाग ने जो पटीशन फाइल की है उसमें डोमैेस्टिक कैटेगरी में 150 यूनिट बिजली इस्तेमाल होने पर टैरिफ को केवल 20 पैसे ही बढ़ाने की सिफारिश की है। जबकि इससे अधिक बिजली का इस्तेमाल होने पर 1 रुपए तक प्रति यूनिट के हिसाब से अतिरिक्त वसूली होगी। केवल डोमैस्टि कैटेगरी ही नहीं बल्कि सभी कंज्यूमर्स से ऐसे ही अधिक दर वसूलने का प्रोपोजल भेजा गया है। 

 

हियरिंग का करें इंतजार :
विभाग की पटीशन पर अभी कमिशन को अंतिम फैसला लेना है। हालांकि यह तय है कि कमिशन द्वारा टैरिफ बढ़ाया जाएगा। लेकिन यह कितना बढ़ेगा यही फैसला जे.ई.आर.सी. के पास रिजर्व रखा गया है। हालांकि इससे पहले शहर के लोगों के पास एक मौका होगा कि वे कमिशन के सामने तर्क रख सकें कि आखिर क्यों टैरिफ को नहीं बढ़ाया जाना चाहिए। जल्द ही कमिशन द्वारा पब्लिक हियरिंग करवाई जाएगी। जिसमें कंज्यूमर्स को भी अपना पक्ष रखने का मौका मिलेगा। इसके आधार पर ही आगामी वित्त वर्ष के टैरिफ पर फैसला लिया जाएगा।

               

                                  टैरिफ
कंज्यूमर्स           स्लैब              मौजूदा टैरिफ  प्रस्तावित
डोमैस्टिक          0-151             2.55            2.75
                       151-400          4.80            5.80
                       400 से अधिक   5.00            6.00
कमर्शियल        0-151              5.00            6.20
                     151-400           5.20            6.45
                      400 से अधिक   5.45             6.75
 

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You