कृष्ण जी राधा जी से अधिक किस से प्रेम करते हैं?

  • कृष्ण जी राधा जी से अधिक किस से प्रेम करते हैं?
You Are HereDharm
Monday, August 26, 2013-9:45 AM

एक बार राधा जी ने बांसुरी से पूछा,"हे प्रिय बांसुरी! यह बताओ कि मैं कृष्ण जी को इतना प्रेम करती हूं, फिर भी कृष्ण जी मुझसे अधिक तुमसे प्रेम करते है,तुम्हे अपने होठों से लगाये रखते है, इसका क्या कारण है?

बांसुरी ने कहा,"मैंने अपने तन को कटवाया, फिर से काट-काट कर अलग की गई, फिर मैंने अपना मन कटवाया, मतलब बीच में से बिलकुल आर-पार पूरी खाली कर दी गई। फिर अंग-अंग छिदवाया, मतलब मुझमें अनेको सुराख़ कर दिए गए। उसके बाद भी मैं वैसे ही बजी जैसे कृष्ण जी ने मुझे बजाना चाहा। मैं अपनी मर्ज़ी से कभी नहीं बजी। यही अंतर है मैं कृष्ण जी की मर्ज़ी से चलती हूं और तुम कृष्ण जी को अपनी मर्ज़ी से चलाना चाहती हो।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You