चंद्रदेव को प्रसन्न कर कष्टों से मुक्ति पाने का दिन है सोमवार

  • चंद्रदेव को प्रसन्न कर कष्टों से मुक्ति पाने का दिन है सोमवार
You Are HereDharm
Monday, December 02, 2013-7:52 AM

ज्योतिष के अनुसार सोमवार का दिन चंद्रदेव को समर्पित है। इन्हें नवग्रहों में दूसरा स्थान प्राप्त है। इनकी प्रतिकूलता से मनुष्य को मानसिक कष्टों का सामना करना पड़ता है। मान्यता है कि पूर्णिमा को तांबे के पात्र में मधुमिश्रित पकवान अर्पित करने पर ये तृप्त होते हैं। जिसके फलस्वरूप मानव सभी कष्टों से मुक्ति पा जाता है।

1 चंद्रमा से शुभ फल प्राप्त करने के लिए इस दिन खीर जरूर खानी चाहिए।

2 यदि कुंडली में चंद्र नीच का हो तो सफेद कपड़े पहनने चाहिए और श्वेत चंदन का तिलक लगाना चाहिए।

3 पारद शिवलिंग पर दूध का रुद्राभिशेक करें।

4  चंद्रमा अर्थात माता का रूप इस ग्रह की सौम्यता के कारण इसे माता कहा जाता है तो प्रतिदिन मां से आशीर्वाद लें। आपके सभी कार्य पूरे होंगे।

5 चंद्रदेव को अर्घ्य देते समय अगर ये मंत्र बोले तो शुभ फल प्राप्त होते हैं।

चंद्रदेव अर्घ्य मंत्र :
ज्योत्‍सनापते नमस्तुभ्‍यं नमस्ते ज्योतिषामपतेः नमस्ते रोहिणिकांतं अर्ध्‍यं मे प्रतिग्रह्यताम ॐ सोमाय नम: ॐ रोहिणिकांताय नम: ॐ चन्द्रमसे नम: क्षीरोदार्णव सम्भूतम अत्रिनेत्र समुद्भव ग्रहाणार्ध्‍यं शशांकेमं रोहिण्यांसहितोमम् ॐ सोमाय नम:...... ॐ रोहिणिकांताय नम:

अगर ये मंत्र बोलने में कठिनाई हो तो केवल ॐ सोमाय नम: बोल सकते हैं |


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You