घर के सदस्यों में तालमेल एवं शांति का माहौल बनाने के लिए

  • घर के सदस्यों में तालमेल एवं शांति का माहौल बनाने के लिए
You Are HereDharm
Wednesday, January 29, 2014-7:48 AM

हिन्दू सभ्यता में प्राकृतिक शक्तियों के साथ तालमेल बिठाने के लिए घर के स्वरूप का निर्धारण करने तथा उसकी साज-सज्जा करते समय कुछ चीजों का विशेष ध्यान रखा जाता है। घर के सदस्यों के बीच तालमेल बिठाने व शांति का माहौल बनाने के लिए प्राय: आपने लोगों को यह कहते सुना होगा कि घर में ये चीजें रखनी चाहिएं तथा ये चीजें नहीं रखनी चाहिएं।

भारतीय वास्तुशास्त्र के अनुसार यदि वास्तुसम्मत चीजों को घर में रखा जाए तो घर में धन, समृद्धि तथा खुशियां आती हैं लेकिन कुछ चीजों को वास्तु के अनुसार घर में नहीं रखना चाहिए  क्योंकि वे नकारात्मक ऊर्जा तथा दुर्भाग्य का सूचक होती हैं लेकिन यह कैसे निर्धारित किया जाए कि किन चीजों को घर में नहीं रखना चाहिए। इसके लिए हम कुछ वास्तु टिप्स दे रहे हैं जिनके द्वारा घर में नकारात्मक ऊर्जा को घर में आने से रोका जा सकता है।

ताजमहल : ताजमहल अपितु प्यार की निशानी है लेकिन यह शाहजहां की पत्नी मुमताज की कब्रगाह भी है। इसकी फोटो या शो पीस घर पर रखना नहीं चाहिए क्योंकि यह निष्क्रियता और मृत्यु की निशानी है  जोकि घर में नकारात्मक वातावरण पैदा करती है।

महाभारत : घर में महाभारत युद्ध से संबंधित भी किसी तरह का चित्र या कोई मॉडल नहीं रखना चाहिए क्योंकि यह परिवार के सदस्यों के बीच में कभी न खत्म होने वाली प्रतिद्वन्द्विता को जन्म देता है ।

नटराज : भगवान शिव की नटराज की मूर्ति लगभग प्रत्येक क्लासिकल डांसर के घर में देखने को मिल जाएगी। अन्य लोग भी इसको शो पीस के रूप में पसंद करते हैं लेकिन इस मूर्ति के पीछे दो तरह की भावनाएं शामिल हैं। नटराज की मूर्ति अद्वितीय कला का रूप है लेकिन यह विनाश का भी एक रूप है क्योंकि नृत्य का यह रूप वास्तव में तांडव नृत्य है जिसका अर्थ है विनाश के लिए नृत्य इसलिए नटराज की मूर्ति को भी घर पर नहीं रखना चाहिए।

डूबती नाव:
डूबती नाव का दृश्य परिवार के सदस्यों के बीच संबंधों में ह्रास की प्रकृति को दर्शाता है। यह दुर्भाग्य का भी सूचक है इसलिए इस तरह के दृश्य को भी घर पर नहीं रखना चाहिए ।

पानी का फव्वारा :
कुछ लोग घर में पानी का फव्वारा रखना पसंद करते हैं  लेकिन वास्तु के अनुसार इस तरह की वस्तु चलायमान प्रकृति को दर्शाती है अर्थात चीजों की अस्थिरता। इसका मतलब है कि धन व समृद्धि जो आपके जीवन में आती है वह ज्यादा समय तक आपके पास नहीं रहेगी। अत: इसे घर में स्थान न दें ।

जंगली जानवर : जंगली जानवर की फोटो या शो पीस को भी घर में नहीं लाना चाहिए  क्योंकि यह घर में परिवार के सदस्यों में हिंसात्मक प्रकृति को बढ़ाती है ।

कैक्टस या कांटेदार पौधे :
इस तरह के पौधों को घर में नहीं रखना चाहिए। यह काम में बाधाएं आने का सूचक है। गुलाब के पौधे को घर में रखा जा सकता है।

डरावना दैत्य और पिशाच :
इस तरह के चित्र या शो पीस भी घर में नहीं रखना चाहिए। ये भी घर में नकारात्मक ऊर्जा को बढ़ाते हैं ।

उपरोक्त वास्तु टिप्स को अपनाकर आप अपने जीवन में सकारात्मक परिवर्तन ला सकते हैं ।

                                                                                                                                                           —अंजना श्रीवास्तव


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You