इनके जरिए जानें अपना भविष्य

  • इनके जरिए जानें अपना भविष्य
You Are HereDharm
Tuesday, February 11, 2014-7:21 AM

समुद्र शास्त्र व शरीर लक्षण विज्ञान के अनुसार किसी भी व्यक्ति का चेहरा एक खुली किताब है, जिसके माध्यम से किसी का व्यक्तित्व एवं स्वभाव बहुत आसानी से जाना जा सकता है। मानव शरीर में किसी न किसी अंग पर तिल अवश्य पाए जाते हैं। शरीर के अलग-अलग अंगों पर तिल होना अलग-अलग प्रभाव देता है। समुद्रशास्त्र में तिल को भविष्य वक्ता के रूप में प्रयोग किया जाता है।  इस विज्ञान के अनुसार मनुष्य के जिस स्थान पर तिल होता है उसके अनुसार उसका अलग-अलग फल मिलता है। स्त्री के बायीं ओर के तिल शुभ होते हैं जबकि पुरुष के लिए दाहिनी ओर के तिल शुभ रहते हैं

- मस्तक के दाहिनी ओर तिल वाले जातक धनवान होते हैं और उन्हें कभी धन का अभाव नहीं रहता।

- मस्तक के बाएं ओर तिल वाले जातकों का जीवन संघर्षमय होता है।

- जिन जातकों के दोनों भौहों पर तिल होता है उनका अधिकतर समय यात्रा में व्यतित होता है।

- दाहिने गाल पर तिल वाले जातकों के धनवान होने के योग होते हैं।

- बाएं गाल पर तिल वाले जातकों का जीवन निर्धनता का प्रतीक है।

- होठों पर तिल वाले जातक कामुक प्रवृति के होते हैं।

- होठों के नीचे तिल वाले जातकों का जीवन निर्धनता से भरपूर होता है।

- कान पर तिल वाले जातक अल्प आयु होते हैं।

- दाहिने आंख पर तिल वाले जातकों का दांपत्य जीवन खुशहाल एवं सुखमय होता है।

- बाएं आंख पर तिल वाले जातकों को अपने दांपत्य जीवन में परेशानीयों का सामना करना पड़ता है।

- जिन जातकों की पलकों पर तिल होता है वह स्वभाव से एकांतप्रिय और संवेदनशील होते हैं।

- जिन जातकों की नाभि पर तिल होता है वह कामुक प्रवृति के होते हैं।

- जिन जातकों की कमर पर तिल होता है उन्हें समस्त ऐशों आराम की प्राप्ति होती है।

- जिन जातकों की जांघ पर तिल होता है उनका संपूर्ण जीवन सुखमय होता है। वह अपने धन का व्यय भोग-विलास के साधनों में करते हैं।

- जिन जातकों के पैर पर तिल होता है वह बहुत सी यात्राएं करते हैं।




 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You