Subscribe Now!

ये रास्ता ले जाता है देवी-देवताओं के दिल तक, किसी से कैसी भी इच्छा पूरी करवाएं

  • ये रास्ता ले जाता है देवी-देवताओं के दिल तक, किसी से कैसी भी इच्छा पूरी करवाएं
You Are HereDharm
Friday, June 16, 2017-1:28 PM

कहते हैं किसी के भी दिल का रास्ता उसके पेट से होकर जाता है। यही बात देवी-देवताओं पर भी लागू होती है। उनकी प्रसन्नता पाने के लिए श्रद्धालु उन्हें विभिन्न प्रकार के व्यंजनों का भोग लगाते हैं। क्या आप जानते हैं, किस देवी-देवता के मन क्या भाता है, उन्हें उनके पंसदीदा भोज्य पदार्थ खिला कर करें प्रसन्न और पाएं मनवांछित फल।


श्रीकृष्ण को माखन मिश्री बहुत पसंद है, उनकी कृपा प्राप्त करने के बाद किसी अन्य देवी-देवता के पूजन की अवश्यकता नहीं रहती।


प्रथमपूज्य मंगल मूर्ति गणेश जी को मोदक का भोग लगाने से जीवन में कोई भी समस्या शेष नहीं रह जाती।


धन की देवी लक्ष्मी की कृपा हो जाएगी तो कभी भी दरिद्रता हावी नहीं हो पाएगी। महालक्ष्मी को चावल से बने पदार्थ बहुत प्रिय हैं, विशेषकर खीर। अत: उन्हें उनके प्रिय वार शुक्रवार को खीर खिलाकर कंजको में बांट दें।


किसी काम में बार-बार अड़चनों का सामना करना पड़ रहा है तो श्रीहरी विष्णु को गुड़, पीली दाल और लड्डूओं को भोग लगाएं।


बल, बुद्धि और विद्या की देवी सरस्वती से वर चाहते हैं तो उन्हें खिचड़ी का भोग लगाएं।


धन के देवता कुबेर को कस्टर्ड, पीले लड्डू और केसर की खीर का भोग लगाने से खजाना बढ़ता है।


लाल मसूर और गुड़ संकटमोचन हनुमान जी को भोग लगाने से संकटो से राहत मिलती है।


देवी दुर्गा द्वारपाल का काम करती हैं अर्थात वह समस्त संसार की रक्षक हैं। घर-परिवार को सुरक्षित करने के लिए घर में मां का स्वरूप स्थापित कर उन्हें खिचड़ी और खीर का भोग लगाएं।


शनिदेव को काले तिल, उड़द और तेल अर्पित करने से वह प्रसन्न होते हैं।


भगवान शिव को दूध और दूध से बने पदार्थों का भोग लगाएं। सफलता आपका साथ देगी।


मानसिक और शारीरिक बल पाने के लिए महाकाली को नींबू से बनी माला चढ़ाएं। साथ में चावल से बनी खीर, मिठाईयां और सब्जियों का भोग लगाएं। 

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You