Subscribe Now!

बुधवार को मुख्य द्वार के पास रखें ये चीज, दुष्प्रभावों से मिलेगा छुटकारा

  • बुधवार को मुख्य द्वार के पास रखें ये चीज, दुष्प्रभावों से मिलेगा छुटकारा
You Are HereDharm
Wednesday, January 17, 2018-1:35 PM

वास्तु के अनुसार घर को सजाना-संवारना, साफ-सुथरा रखना बहुत ही अनिवार्य माना जाता है क्योंकि इससे घर के सदस्यों के जीवन की बाधाएं दूर होती हैं। वास्तु में घर के सभी हिस्सों के लिए उपाय बताए गए हैं। ये उपाय अपनाने से घर में सकारात्मक ऊर्जा बढ़ती है और नकारात्मक ऊर्जा दूर होती है। घर का मुख्य द्वार वास्तु दोष से मुक्त होना अत्यंत आवश्यक है। यदि इसमें कोई दोष हो, तो इसे तुरंत वास्तु उपायों के द्वारा ठीक कर लेना चाहिए क्योंकि इससे घर-परिवार से संबंधित बहुत सारी समस्याएं जन्म लेती हैं विशेषकर धन से जुड़ी। तो आईए जानें मुख्य द्वार के वास्तु संबंधित उपाय।


घर में सौभाग्य को न्यौता देने के लिए घर के मुख्य द्वार पर रंगोली बनाएं, फूलों का गुलदस्ता या छोटी घंटियां लगाएं। ऐसा करने से सौभाग्य के साथ-साथ महालक्ष्मी के आने का रास्ता भी स्वयं बनता है।

 

अपनी आस्था के अनुसार घर के मुख्य द्वार पर बाहर की ओर मांगलिक प्रतिकों को प्रदर्शित करें जैसे स्वास्तिक, ओम, त्रिशूल, क्रास इत्यादि। इससे सौभाग्य, समृद्धि व प्रसिद्धि में वृद्धि होती है।
 

घर के मुख्य द्वार का मुंह उत्तर-पूर्व या दक्षिण-पूर्व दिशा की ओर है तो गुडलक के लिए गुरुवार या मंगलवार को दरवाजे के अंदर बाएं ओर बर्तन में पानी भरकर रखें और उसमें फूल की पंखुड़ियां डालें।

 

अगर दरवाजा दक्षिण-पश्चिम, उत्तर-पश्चिम दिशा की ओर मुख वाला हो तो दुष्प्रभावों को घर में घुसने से रोकने के लिए बुधवार या सोमवार द्वार के पास ग्लास क्रिस्टल रखें।


घर के मुख्य द्वार के सामने जूते, चप्पल उतारना अशुभ होता है, जो सकारात्मक ऊर्जा को अंदर आने से रोकता है। इसी प्रकार मुख्य द्वार के पीछे भी किसी प्रकार की कोई चीज लटकाना अशुभ होता है।

 

यदि घर का दरवाजा पूर्व दिशा में हो तो किसी भी रविवार को सूर्योदय से पहले दरवाजे के सामने नारियल के साथ कुछ सिक्के रखकर किसी लाल कपड़े में बांधें और दरवाजे कर लटका दें, साथ ही सूर्य मंत्र का जप करें।

 

अगर दरवाजा पश्चिम दिशा में हो तो सोमवार को एक रुद्राक्ष दरवाजे के बीच में लटका दें। ऐसा करने पर कार्यों में सफलता मिलने की संभावनाएं बढ़ने लगेगी।

 

दक्षिण दिशा में दरवाजा शुभ नहीं माना जाता है। इस दिशा में दरवाजा हो तो मंगलवार या शनिवार को नींबू या सात कौड़ियां धागे में बांधकर दरवाजे पर लटका दें।

 

उत्तर दिशा का दरवाजा लाभदायक होता है। इस दिशा में दरवाजा हो तो शुक्रवार को दरवाजे पर पीले फूले की माला बनाएं और भगवान विष्णु की आराधना करें।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You