PIX: लंका में ऐसे स्थान जहां आज भी दिखती है दशानन की मौजूदगी

You Are HereDharmik Sthal
Tuesday, October 11, 2016-3:03 PM

दशानन लंका का राजा होने के अतिरिक्त महान पंड़ित अौर तंत्र विद्या का ज्ञाता था। लंका में ईला नामक स्थान है। जहां पर आज भी लंकापति रावण का मौजूदगी दिखाई देती है। ईला प्राकृतिक रुप से जितना खूबसूरत है उतना रहस्यमय अौर रोमांचकारी भी है। कहा जाता है कि रावण ने यहां पर तपस्या की थी अौर कुछ समय के लिए माता सीता को यहीं पर बंदी बनाकर रखा था। 

 

ईला में रावण गुफा है। जहां पर रावण ने तपस्या की थी। माना जाता है कि यहां पर रावण ने माता सीता को बंदी बनाकर भी रखा था। कहा जाता है कि गुफा से निकलकर एक रास्ता रावण जलप्रपात तक जाता था। रावण गुफा से निकलकर यहां स्नान करता था। इस स्थान तक पहुंचना कठिन है। गुफा के पीछे एक अोर जल प्रपात है जिसे श्रीलंका सरकार ने रावण जलप्रपात का नाम दे दिया है।      


रावण ने अपने सौतेले भाई धन के देवता कुबेर से उनका पुष्पक विमान छिन लिया था। कहा जाता है कि रावण ने विमान को रखने के लिए कई हवाई अड्डे बनाए थे। ईला में भी रावण गुफा के पास एक हवाई अड्डा बनाया था। जिसे पवन पुत्र हनुमान ने नष्ट कर दिया था। 


श्रीलंका के नरौलिया में गायत्री शक्तिपीठ है। जहां पर रावण अौर मेघनाद ने तप किया था। माना जाता है कि इस स्थान पर ही मेघनाद ने अजेय होने के लिए निकुंभ यज्ञ किया था। यहां पर रावण द्वारा बनाया गर्म पानी का जल स्रोत भी है। माना जाता है कि माता अंतिम संस्कार के समय रावण ने अपनी तलवार से पृथ्वी पर कई जगह वार किया। इससे धरती से पानी फूटकर बाहर आने लगा। रावण की अशोक वाटिका जहां पर माता सीता को रखा था। कहा जाता है कि हनुमान जी यहीं से आम लेकर भारत आए थे। 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You