उ. कोरिया में कैदी चूहे, छिपकली तथा कीडे खाने को मजबूर

  • उ. कोरिया में कैदी चूहे, छिपकली तथा कीडे खाने को मजबूर
You Are HereInternational
Friday, August 23, 2013-5:03 PM

प्योंयांग: उत्तर कोरिया में चीन की सीमा के होरयांग इलाके के किनारे यातना शिविरों से 30 बंदी फरार हो गए हैं। संयुक्त राष्ट्र जांच आयोग ने शिविर से भागे कुछ लोगों का साक्षात्कार लिया, जिसमें चौंकाने वाले तथ्य सामने आए हैं। यह पाया गया कि बंदियों को खाना नहीं दिया जाता जिसके कारण वह चूहे, छिपकली तथा कीडे खाने को मजबूर हैं।

उत्तर कोरिया के एक यातना शिविर कैम्प 14 में गुपचुप तरीके से बनाए गए एक वीडियो में एक अधिकारी एक बंदी पर गुस्से में चिल्ला रहा है। उस बंदी का कसूर सिर्फ इतना था कि उसके हाथ से सिलाई मशीन नीचे जमीन पर गिर गई थी। इतनी सी बात पर अधिकारी ने गुस्से में चाकू से बंदी के हाथ से एक उंगली काट दी। कैम्प 14 से भागे बंदी शिन डोंग हयूक ने यातना शिविर में बिताए क्षणों के अनुभवों का एक पुस्तक में वर्णन किया है। शिन ने बताया कि शिविरों में लोगों पर हद से ज्यादा अत्याचार किए जाते हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You