अमेरिका ने सीरिया पर हमला करने का लिया निर्णय

  • अमेरिका ने सीरिया पर हमला करने का लिया निर्णय
You Are HereInternational
Sunday, September 01, 2013-1:35 AM

वाशिंगटन : अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने सीरिया पर हमला किये जाने के पूरे प्रकरण का पटाक्षेप करते हुये आज इस बात की घोषणा कि उन्होंने सीरिया पर हमला करने का निर्णय ले लिया है। श्री ओबामा ने राष्ट्रपति कार्यालय से जारी वक्तव्य में आज यह कहा मैंने सीरिया पर हमला करने का निर्णय ले लिया है लेकिन उस पर सैन्य कार्रवाई करने के लिये पहले कांग्रेस में वोटिंग होगी।

संयुक्त राष्ट्र के दल ने सीरिया में राष्ट्रपति बशर अल असद सरकार द्वारा नागरिकों पर रासायनिक हथियारों के कथित इस्तेमाल की जांच पूरी कर ली है। शनिवार को लेबनान पहुंची यह टीम जल्द यूएन महासचिव बान की मून से मुलाकात करेगी। असद सरकार को सबक सिखाने पर आमादा अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा है कि उन्होंने सीरिया पर हवाई हमले का फैसला किया है। यह किसी भी समय हो सकता है। लेकिन इसके लिए पहले वह अमेरिकी संसद की इजाजत लेंगे। रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने रासायनिक हमले के आरोपों को बकवास करार देते हुए अमेरिका से इसका सुबूत देने को कहा है। हमले की आशंका को देखते हुए भारत ने अपने नागरिकों को सीरिया छोडऩे की सलाह दी है।

हमले को लेकर अमेरिकी सांसदों में उभरे मतभेदों के बावजूद ओबामा का कहना है कि अमेरिका का यह दायित्व है कि वह सीरिया में रासायनिक हथियार के प्रयोग के लिए सरकार को दंडित करे। उन्होंने कहा कि सीमित हमले के लिए विध्वंसक अमेरिकी क्रूज मिसाइलें क्षेत्र में मौजूद हैं। हमारी सेना जमीन पर नहीं उतरेगी। सैन्य कार्रवाई के लिए बस अमेरिकी संसद से मंजूरी का इंतजार है। ध्यान रहे कि ब्रिटिश संसद ने प्रधानमंत्री डेविड कैमरन को ऑपरेशन सीरिया में शामिल होने की इजाजत देने से मना कर दिया है। इस बीच अमेरिकी विदेश मंत्री जॉन केरी ने पुष्टि की है कि रूस के विरोध को देखते हुए अमेरिका हमले के लिए यूएन सुरक्षा परिषद की अनुमति नहीं मांगेगा। ओबामा ने कहा, हमने सहयोगी देशों के साथ विचार-विमर्श किया है। हमने अमेरिकी संसद में भी चर्चा की है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You