पाकिस्तान की नौसेना ने मिसाइल सुसज्जित पोत को किया शामिल

  • पाकिस्तान की नौसेना ने मिसाइल सुसज्जित पोत को किया शामिल
You Are HereInternational
Tuesday, September 03, 2013-6:01 PM

इस्लामाबाद: पाकिस्तान ने आज चीन की मदद से निर्मित एक एफ-22पी पोत को नौसेना में शामिल किया और प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने इसे दोनों देशों के बीच ‘‘दोस्ती का अटूट बंधन’’ करार दिया। पीएनएस असलात नामक इस पोत का निर्माण चीन द्वारा हस्तांतरित प्रौद्योगिकी से कराची में एक गोदी में किया गया है। चीन ने पहले ही 2005 के एक अनुबंध के तहत पाकिस्तान को निदेर्शित मिसाइल से सुसज्जित तीन एफ-22पी की आपूर्ति की है।

असलात सतह से सतह तक हवा मैं मार करने वाले प्रक्षेपास्त्रों टारपेडो और एक इलेक्ट्रानिक युद्ध प्रणाली से सुसज्जित है। पोत को नौसेना में शामिल कि° जाने के अवसर पर आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए शरीफ ने पोत के निर्माण में बीजिंग की मदद की बात कुबूल की और 1950 से दोनों देशों के बीच समय पर खरे उतरे रिश्तों का जिक्र किया।

उन्होंने कहा ‘‘एफ..22पी पोत का कराची की गोदी में निर्माण चीन और पाकिस्तान के बीच सदाबहार दोस्ती का परिचायक है।’’ शरीफ ने कहा कि उन्हें विश्वास है कि दोनों देशों के बीच रक्षा सहयोग बढेगा और यह क्षेत्र में सुधरती शांति स्थिरता और सुरक्षा की स्थिति का स्रोत बनेगा।’’ उन्होंने समुद्र में ग्वादर बंदरगाह विकसित करने में चीन की मदद का भी उल्लेख करते हुए कहा कि यह विकास एवं खुशहाली के नए आयाम खोलेगा।

उन्होंने कहा कि रेल एवं सडक ढांचे के विकास के बाद यह बंदरगाह क्षेत्र में व्यापार एवं अर्थव्यवस्था के लिए एक बडे बदलाव का कारण बनेगा। अपने संबोधन में नौसेना प्रमुख आसिफ सांडिला ने कहा कि पाकिस्तान के समक्ष मौजूद चुनौतियों से निपटने के लिये एक मजबूत नौसैनिक बल नितांत जरूरी है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान का किसी देश के खिलाफ आक्रामक इरादा नहीं है और वह क्षेत्र में शांति चाहता है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You