भारत सीरिया में सैनिक हस्तक्षेप के खिलाफ : खुर्शीद

  • भारत सीरिया में सैनिक हस्तक्षेप के खिलाफ : खुर्शीद
You Are HereInternational
Friday, September 13, 2013-5:19 PM

बिश्केक: भारत ने सीरिया में संघर्ष पर आज गहरी चिंता प्रकट की और कहा कि विश्व शक्तियों को उस देश में किसी तरह के सैन्य हस्तक्षेप का सहारा नहीं लेना चाहिए। शंघाई सहयोग संगठन के शासनाध्यक्षों के शिखर सम्मेलन में अपने संबोधन में विदेश मंत्री सलमान खुर्शीद ने कहा, ‘भारत सीरिया में चल रहे टकराव से बहुत चिंतित है और वहां तेजी से बदल रहे घटनाक्रम पर करीबी नजर बनाए हुए है।’|

उन्होंने कहा, ‘हमने लगातार सभी पक्षों से हिंसा छोडऩे को कहा है ताकि समावेशी राजनीतिक वार्तालाप के लिए माहौल तैयार हो सके, जिससे सीरिया के लोगों की वैध आकांक्षाओं को ध्यान में रखते हुए व्यापक राजनीतिक समाधान का रास्ता निकले। सीरिया के मामले में किसी भी तरह के बाहरी सैन्य हस्तक्षेप का विरोध करते हुए खुर्शीद ने कहा, ‘हम रूस द्वारा पेश किए गए इस ताजा प्रस्ताव से उत्साहित हैं कि सीरिया के रासायनिक हथियार जखीरे को अन्तरराष्ट्रीय नियंत्रण में लाया जाए।’

उन्होंने कहा, ‘यह प्रस्ताव भारत के उस सतत रूख का समर्थन करता है कि दुनियाभर से रासायनिक हथियारों का खात्मा होना चाहिए। भारत संयुक्त राष्ट्र के दायरे में इस दिशा में किसी भी कदम को एक रचनात्मक घटनाक्रम के तौर पर देखता है।’ विदेश मंत्री ने कहा, ‘हमें उम्मीद है कि इस घटनाक्रम से सीरिया संघर्ष के राजनीतिक समाधान की दिशा में किए जा रहे शांति प्रयासों को बल मिलेगा, जिसमें संघर्षरत सभी पक्षों को बातचीत के लिए राजी करना, सीरिया (जिनीवा 2) पर प्रस्तावित अन्तरराष्ट्रीय सम्मेलन जल्द आयोजित करना शामिल है। राष्ट्रपति बशर अल असद सरकार द्वारा कथित रासायनिक हमले में 1000 से ज्यादा लोगों के मारे जाने के बाद अमेरिका सीरिया पर सैनिक हस्तक्षेप के लिए जोर दे रहा है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You