आधुनिक सुविधाओं से लैस हैं दुनिया के बड़े जेल

  • आधुनिक सुविधाओं से लैस हैं दुनिया के बड़े जेल
You Are HereInternational
Sunday, September 15, 2013-4:47 PM

लास एंजेलिस: दुनिया में बढ़ते अपराध की वजह से कैदियों की बढ़ती संख्या को देखते हुए दुनिया भर में आधुनिक सुविधाओं से लैस बड़े कारागारों का निर्माण भी हुआ है। आइए, दुनिया के शीर्ष बड़े कारागारों के बारे में जानें। वेबसाइट ‘द रिचेस्ट डॉट कॉम’ के मुताबिक, दुनिया के तीन शीर्ष कारागार हैं - कैलिफोर्र्निया का ट्विन टॉवर्स सुधार गृह, न्यूयॉर्क का रीकर्स द्वीप कारागार और तुर्की का सिलीवरी बंदीगृह।

ट्विन टॉवर्स सुधार गृह :  लॉस एंजेलिस के व्यापारिक क्षेत्र में बना यह कारागार 15 लाख वर्गफीट में फैला हुआ है। 1997 में बना यह कारागार दुनिया के बड़े कारागारों में से एक है। इस कारागार की इमारत गगनचुंबी है, मगर इस कारागार से अब तक 13 कैदी भाग चुके हैं। लॉस एंजेलिस के 210 वेस्ट टेंपल स्ट्रीट पर स्थित हॉल ऑफ जस्टिस, नॉर्थरिज भूकंप आने से ध्वस्त हो गई थी। इसके ध्वस्त हो जाने के बाद ट्विन टॉवर कारागार की स्थापना की गई। इस कारागार का डिजाइन एकदम आधुनिक है। इसमें अधिकारी और उनके सहायक एक केंद्रीय नियंत्रण कक्ष के सुरक्षित ऑप्टिकल सामग्री से पूरी जेल के सभी क्षेत्रों को देख सकते हैं।

ट्विन टॉवर का मतलब है दो टॉवर एक जगह। एक है चिकित्सा सेवा की इमारत और दूसरी लास एंजेलिस काउंटी मेडिकल सेंटर जेल वार्ड। सुरक्षा बंदियों और बड़ी संख्या में मानसिक रूप से अस्वस्थ कैदियों को कारागार में रखने के लिए टॉवरों को कुशल पैनोप्टिक डिजाइन से बनाया गया है। सामान्य चिकित्सा और मानसिक चिकित्सा की जरूरत वाले कैदियों के लिए यहां रोगी आवास उपलब्ध है। जिन कैदियों को उच्चस्तरीय स्वास्थ्य देखभाल की जरूरत होती है उन्हें लास एंजेलिस काउंटी चिकित्सा केंद्र में भेज दिया जाता है।

न्यूयॉर्क का रीकर्स द्वीप कारागार : यह न्यूयॉर्क का मशहूर मुख्य कारागार है। कई दशकों से इसे विश्व का सबसे बड़ा कारागार का दर्जा प्राप्त है। इस कारागार का निर्माण 1932 में हुआ था। 400 एकड़ के द्वीप में बने इस कारागार से कैदियों का भागना बहुत मुश्किल है। 9,000 से अधिक अधिकारियों वाले इस कारागार का सालाना बजट 860 करोड़ डॉलर है। इस जेल का संचालन न्यूयॉर्क शहर के सुधार विभाग द्वारा होता है। संयुक्त राज्य अमेरिका के जनगणना ब्यूरो के मुताबिक 2009 में इस जेल के नियमित अधिकारियों की संख्या 11,355 थी।

तुर्की का सिलीवरी बंदीगृह : तुर्की के सिलीवरी जिले में 67 करोड़ डॉलर की लागत से बने इस कारागार का निर्माण ग्रामीण तुर्की में
1960 के दशक में हुआ था। क्षेत्र के 15,000 से अधिक कैदियों के लिए बड़े सुधारगृह की जरूरत को देखते हुए इसे बनाया गया।
खाने की अधिक सुविधा, मिलने आने वालों के लिए प्रतीक्षालय, काम की सुविधा और बहुत से आगंतुकों के लिए रेस्तरां जैसी
सुविधाओं को जोड़ते हुए वर्ष 2005 में इस पूरे कारागार का नवीनीकरण किया गया था।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You