शांति के नोबेल पुरस्कार में आ सकता है मलाला का नाम

  • शांति के नोबेल पुरस्कार में आ सकता है मलाला का नाम
You Are HereInternational
Saturday, October 05, 2013-10:48 AM

स्टॉकहोम: इस वर्ष के नोबेल पुरस्कारों की घोषणा इसी महीने में की जाएगी। शांति के नोबेल पुरस्कार के प्रबल दावेदार पाकिस्तानी किशोरी मलाला यूसुफजई, कांगो के डॉक्टर डेनिस मुकवेगे, रूस और बेलारुस के सामाजिक कार्यकर्ताओं को माना जा रहा है। चिकित्सा के क्षेत्र में नोबेल पुरस्कार की घोषणा सोमवार को की जाएगी, जबकि साहित्य और शांति का नोबेल पुरस्कार किसे मिले यह बात की चर्चा जोरों पर है। इस नोबेल पुरस्कार के लिए रिकॉर्ड में कुल 259 नाम शामिल किए गए है।

इनमें 209 व्यक्तियों और 50 संगठनों के नाम है, लेकिन नोबेल पुरस्कार समिति कभी भी सूची को उजागर नहीं करती। शांति के नोबेल पुरस्कार की घोषणा 11 अक्तूबर को की जाएगी। ओस्लो स्थित पीस रिसर्च इंस्टीट्यूट के क्रिस्टीयन बर्ग हार्पविकन वर्ष 2009 से संभावित विजेताओं की सूची को जारी करते हैं। इस बार लड़कियों की शिक्षा के  लिए आवाज उठाने पर तालिबान की गोली का शिकार बनी 16 वर्षीय मलाला का नाम उनकी सूची में सबसे ऊपर है।

जबकि कई लोग नैतिक दृष्टि से एक बच्ची को यह पुरस्कार देने के हक में नहीं हैं। स्टॉकहोम पीस रिसर्च इंस्टीट्यूट के टिलमैन ब्रुक के अनुसार, यह पुरस्कार कोलंबिया के शांति वार्ताकारों या म्यांमार के सुधारवादियों को दिया जाना चाहिए। वहीं इतिहासकार एस्ले स्वीन का मानना है कि यह पुरस्कार डॉक्टर डेनिस मुकवेगे को देना चाहिए, क्योंकि उन्होंने कांगो में उन हजारों महिलाओं की सहायता के लिए अस्पताल बनवाया है, जिन्हें स्थानीय और विदेशी आतंकी अपनी हवस का शिकार बना लेते हैं।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You