मालदीव चुनावों में विलंब को लेकर अमेरिका बेहद चिंतित

  • मालदीव चुनावों में विलंब को लेकर अमेरिका बेहद चिंतित
You Are HereInternational
Friday, October 11, 2013-10:34 AM

वाशिंगटन: अमेरिका ने मालदीव में कानूनी गतिविधियों पर गहरी चिंता व्यक्त करते हुए वहां बिना किसी विलंब के ‘‘निष्पक्ष और समावेशी चुनाव’’ कराने का आह्वान किया है। मालदीव में कानूनी फैसले के चलते, 20 अक्तूबर को होने वाले चुनाव में पूर्व राष्ट्रपति मोहम्मद नशीद संभवत: भाग नहीं ले पाएंगे।

विदेश विभाग की उपप्रवक्ता मैरी हार्फ ने कल कहा, ‘‘अमेरिका ने मालदीव में चल रही उन कानूनी गतिविधियों को लेकर चिंता जाहिर की है, जिनके कारण मालदीव के राष्ट्रपति चुनाव में देर हो सकती है और पूर्व राष्ट्रपति नशीद को चुनाव में भाग लेने से शायद रोका भी जा सकता है।’’

उन्होंने एक बयान में कहा, ‘‘मालदीव के सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया है कि नया चुनाव कराया जाना चाहिए और चुनाव आयोग को 20 अक्तूबर तक मतदान की तैयारियां कर लेनी चाहिए। यह भी महत्वपूर्ण है कि इस प्रक्रिया को बिना किसी रूकावट के आगे बढ़ाया जाए और निष्पक्ष, समावेशी तथा पारदर्शी तरीके से चुनाव हो।’’

पिछले महीने हुए चुनाव सुप्रीम कोर्ट द्वारा रद्द किए जाने के बाद पुन: नए चुनाव कराने के निर्देश के मद्देनजर मालदीव की सरकार ने मंगलवार को इस सिलसिले में सभी दलों से सहयोग का आह्वान किया, जबकि रद्द किए गए चुनावों को अतंरराष्ट्रीय पर्यवेक्षकों ने भी स्वतंत्र और निष्पक्ष बताया था।

स्वतंत्र चुनाव आयोग ने कहा कि नए मतदान 19 अक्तूबर को होंगे। कोर्ट के आदेश के बाद सात सितंबर को संपन्न पहले चरण का चुनाव रद्द हो गया था। पूर्व में संपन्न चुनाव में नशीद ने जीत हासिल की थी, जिनका दावा था कि पिछले वर्ष उन्हें तख्तापलट के जरिए सत्ता से हटाया गया था।


 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You