मलाला को नहीं मिला नोबेल शांति पुरस्कार

  • मलाला को नहीं मिला नोबेल शांति पुरस्कार
You Are HereInternational
Friday, October 11, 2013-6:01 PM

इस्लामाबाद: पाकिस्तान में लड़कियों की शिक्षा की पैरोकार और तालिबानियों से लोहा लेने वाली मलाला युसुफजई को नोबेल शांति पुरस्कार नहीं मिला। वर्ष 2013 का शांति का नोबेल पुरस्कार रासायनिक हथियारों पर निगरानी रखने वाली वैश्विक संस्था आर्गेनाइजेशन फार प्रोहिबिशन आफ केमिकल वेपन्स ‘ओपीसीडब्ल्यू’ को दिया गया है।

स्वीडन के स्टाकहोम में पुरस्कार की घोषणा करते हुये नार्वेजियन नोबेल समिति ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय समझौतों के साथ ही ओपीसीडब्ल्यू के प्रयासों से अंतरराष्ट्रीय कानून के तहत रासायनिक हथियारों का प्रयोग निषिद्ध हो गया है। समिति ने कहा कि हाल में सीरिया में एक बार फिर से रासायनिक हथियारों के इस्तेमाल से इन प्रयासों की आवश्यकता को एक बार फिर से चिह्नित किया है। समिति ने कहा कि ओपीसीडब्ल्यू को पुरस्कार देकर समिति रासायनिक हथियारों के उन्मूलन में अपना योगदान देना चाहती है। समिति की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि महान वैज्ञानिक एल्फ्रेड नोबेल जिनके नाम पर यह पुरस्कार दिया जाता है, वह भी निरीकरण के पक्षधर थे।


लेकिन मलाला को यूरोपीय संसद के प्रतिष्ठित सखारोव मानवाधिकार पुरस्कार से जरूर नवाजा गया हैं। गौरतलब है कि अति चरमपंथी इस्लाम के खिलाफ लड़ाई का प्रतीक बन चुकी 16 वर्षीय मलाला को नोबेल शांति पुरस्कार के लिए भी नामित किया गया था। तालिबान के खिलाफ आवाज उठाने और बच्चों के स्कूल जाने के अधिकार के प्रति आवाज उठाने के कारण पाकिस्तानी तालिबान ने पिछले वर्ष 9 अक्तूबर को उनके सिर में गोली मार दी थी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You