'पाकिस्तान की सहमति से हुए ड्रोन हमले'

  • 'पाकिस्तान की सहमति से हुए ड्रोन हमले'
You Are HereInternational
Friday, October 25, 2013-1:39 PM

संयुक्त राष्ट्र: संयुक्त राष्ट्र की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि सीआईए के ड्रोन हमलों के लिए पाकिस्तान की सेना, सरकार एवं खुफिया सेवा के शीर्ष लोगों द्वारा ‘सक्रिय सहमति एवं अनुमति’ दिए जाने के ‘ठोस सबूत’ मौजूद हैं। आतंकवाद का मुकाबला करते समय मानवाधिकार एवं बुनियादी आजादी की रक्षा करने एवं बढ़ावा देने के मामलों को लेकर संयुक्त राष्ट्र के विशेष प्रतिनिधि बेन एमरसन की रिपोर्ट में यह दावा किया गया है।

एमरसन की यह रिपोर्ट आज संयुक्त राष्ट्र महसभा को सौंपी जाएगी। यह आतंकवाद विरोधी अभियानों में रिमोट द्वारा संचालित विमानों के इस्तेमाल पर अंतरिम रिपोर्ट है। पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ और अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा की इस सप्ताह वाशिंगटन में हुई मुलाकात के बाद यह रिपोर्ट आई है। शरीफ ने इस मुलाकात के दौरान ओबामा से आग्रह किया कि पाकिस्तानी सरजमीं पर ड्रोन हमले बंद किए जाएं।

एमरसन ने 24 पृष्ठों की इस रिपोर्ट में कहा, ‘‘पाकिस्तान के संदर्भ में इस बात के ठोस सबूत हैं कि जून, 2004 और जून, 2008 के बीच रिमोट से संचालित विमानों का इस्तेमाल पाकिस्तानी सेना और खुफिया सेवा के वरिष्ठ सदस्यों की सक्रिय सहमति और अनुमति से किया गया।’’


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You