पाक ने भारत से बातचीत शुरू करने की वकालत की

  • पाक ने भारत से बातचीत शुरू करने की वकालत की
You Are HereNational
Thursday, November 07, 2013-9:25 PM

नई दिल्ली: पाकिस्तान ने स्थगित भारत-पाक वार्ता प्रक्रिया को बहाल करने की जोरदार वकालत करते हुए आज कहा कि दोनों देशों को पुराने या मौजूदा मामलों में ही नहीं उलझे रहना चाहिए और एक बारे वे आगे बढ़ेंगे तो व्यापारिक संबंधों में प्रगति सहित सभी अन्य चीजें व्यवस्थित होने लगेंगी।

पाकिस्तान की टिप्पणी भारत द्वारा यह स्पष्ट किए जाने के बाद आयी है कि पाकिस्तान के साथ द्विपक्षीय वार्ता में कोई भी प्रगति नियंत्रण रेखा पर शांति एवं सौहार्द्र पर निर्भर करेगी। भारत-पाक समग्र वार्ता प्रक्रिया का तीसरा दौर इस साल नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तानी सेना द्वारा दो भारतीय सैनिकों की हत्या के बाद से ठप्प है ।

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की अपने पाकिस्तानी समकक्ष नवाज शरीफ के साथ सितंबर में न्यूयार्क में हुयी बैठक के दौरान भारत ने पाकिस्तान द्वारा न सिर्फ नियंत्रण रेखा बल्कि अंतरराष्ट्रीय सीमा पर भी संघर्षविराम के उल्लंघनों और पिछले कुछ महीनों में बीएसएफ जवानों की मौत को लेकर भी चिंता जतायी।

भारत में पाकिस्तान के उच्चायुक्त सलमान बशीर ने भारत-पाक व्यापार संबंधों पर आईसीआरआईईआर द्वारा आयोजित एक व्याख्यान से इतर कहा कि हमें स्थगित वार्ता प्रक्रिया को बहाल कर आगे बढऩे की जरूरत है और एक बार ऐसा हो जाता है तो सबकुछ व्यवस्थित होने लगेगा। बशीर ने कहा कि विगत में कुछ अच्छी बातें हुयी हैं और कुछ अच्छी बातें मेज पर हैं और दोनों देश बातचीत प्रक्रिया शुरू करने पर उन्हें आगे बढ़ा सकते हैं।

बशीर ने कहा कि भारत-पाक व्यापार प्रक्रिया में देरी होने के कारणों में से एक इसका बातचीत प्रक्रिया का महत्वपूर्ण घटक होना है और बातचीत प्रक्रिया बाधित है। उन्होंने कहा कि यह महत्वपूर्ण है कि एक बिंदु प्राप्त करें जहां से हम दोनों देशों की बातचीत प्रक्रिया को बहाल कर सकें।

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान भारत के साथ व्यापार संबंधों को सामान्य बनाने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा, ‘‘मैं समझता हूं कि इस बारे में कोई सवाल ही नहीं है, कुछ ऐसी चीजें हैं जो रास्ते में आती हैं। मैं समझता हूं कि हम उन बाधाओं को दूर करने के लिए सब कुछ करने को प्रतिबद्ध हैं। हमें पुराने या मौजूदा मामलों में ही नहीं उलझे रहना चाहिए। ’’ बशीर ने कहा कि पाकिस्तान के लिए मुख्य प्राथमिकता विकास के पथ पर आगे बढऩा है। उन्होंने कहा कि इसके लिए देश के अंदर और पड़ोस दोनों स्थानों में उपयुक्त स्थितियां होनी चाहिए।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You