महिला ने पिल्लों सहित खुद को उतारा मौत के घाट

  • महिला ने पिल्लों सहित खुद को उतारा मौत के घाट
You Are HereInternational
Thursday, November 14, 2013-10:26 AM

ओहायो: अमेरिका में रहने वाली एक महिला को पालतू जानवरों से बहुत प्यार था। खासतौर पर कुत्ते और बिल्लियों से। उसने अपनी पूरी जिंदगी सड़क पर आवारा छोड़ दिए गए जानवरों को उठाया और अपने बच्चों की तरह पाला। उसे इस बात का डिप्रेशन हो गया कि मेरे बाद इनका क्या होगा। नतीजतन एक दिन उस बुजुर्ग महिला ने न सिर्फ आत्महत्या कर ली, बल्कि अपने साथ 31 कुत्तों को भी दम घोंटकर मार डाला।

अमेरिका के ओहायो स्टेट में एनिमल राइट्स के लिए संस्था चलाने वाली 62 साल की बुजुर्ग सांड्रा लैर्टमैन ने आत्महत्या की। सांड्रा की एक दोस्त ने इस बारे में पुलिस को सूचना दी। जब पुलिस वहां पहुंची तो देखा कि  घर के गैराज में  कार पार्क थी। वहीं सांड्रा के साथ 31 छोटे छोटे पिल्ले भी मरे पड़े थे। कार में जहरीली दवा की बोतल और स्यूसाइड लेटर भी था।

पुलिस के अनुसार, सांड्रा ने खुद के साथ 32 पिल्लों को कार में बंद कर लिया था और जहरीली दवा खा ली थी। पिल्ले दम घुटने से मर गए। एक पिल्ला किसी तरह एक सुराख बना इतनी हवा पाता रहा कि जिंदा बचा गया। अब इस पिल्ले की देखभाल सांड्रा के पति रिक कर रहे हैं। सांड्रा के पास 20 बिल्लियां भी थीं. राहत की बात यह है कि मरने का ख्याल और योजना लाते वक्त सांड्रा ने बिल्लियों को बख्श दिया।

हैरानी की बात यह है कि जो सांड्रा जीवन भर पशुओं की रक्षा के लिए लड़ती रही, अंत समय में उसने ही इतने पशुओं की जान ले ली। वह एनिमल राइट्स फाउंडेशन नाम की संस्था की एग्जिक्यूटिव डायरेक्टर थी।संस्था ने इस हादसे के बाद अपनी वेबसाइट पर लिखा कि सांड्रा को डर था कि उसकी मौत के बाद इन कुत्तों की देखभाल नहीं हो पाएगी। वह हर दिन कई घंटे अकेले ही इन कुत्तों की देखभाल करती थी।


 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You