सिख समुदाय को सोनिया की शिकायत के लिए मिला समय

  • सिख समुदाय को सोनिया की शिकायत के लिए मिला समय
You Are HereNational
Thursday, November 21, 2013-12:42 PM

न्यूयार्क: अमेरिका की एक संघीय अदालत ने संस्था-सिख्स फॉर जस्टिस (एसएफजे) को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के खिलाफ संशोधित याचिका दाखिल करने के लिए तीन दिसंबर तक का समय दिया है। यह याचिका एक कथित मानवाधिकार के उल्लंघन के संबंध में है। सूत्रों के अनुसार सोमवार को सोनिया गांधी के वकीलों के विरोध के बावजूद संघीय अदालत ने सिख अधिकारों के लिए लड़ने वाली संस्था को शिकायत याचिका में सुधार करने के लिए उन्हें अतिरिक्त समय दिया।

 

गौरतलब है कि अमेरिका की एक संघीय अदालत ने 1984 के सिख विरोधी दंगों में कथित तौर पर शामिल पार्टी नेताओं का बचाव करने के लिए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के खिलाफ समन जारी किया था। अमेरिका स्थित मानवाधिकार संगठन, सिख फॉर जस्टिस और नवंबर 1984 के दंगों के अन्य पीड़ितों ने याचिका दायर कर गांधी के खिलाफ मुआवजा और दंडात्मक कार्रवाई की मांग की है।

 

सिख फॉर जस्टिस के वकील गुरपतवंत एस. पन्नू के अनुसार, संघीय नियमों के तहत गांधी को समन देने और उनके खिलाफ शिकायत दर्ज कराने के लिए पहले 120 दिनों का समय दिया था। एलियन टॉर्ट क्लेम्स एक्ट (एटीसीए) और टॉर्चर विक्टिम प्रोटेक्शन एक्ट (टीवीपीए) के तहत दायर याचिका में गांधी पर 1984 की हिंसा में कथित तौर पर शामिल कमलनाथ, सज्जन कुमार, जगदीश टाइटलर और कांग्रेस के अन्य नेताओं को संरक्षण देने का आरोप है।

 

गांधी के खिलाफ एक 27 पृष्ठों की शिकायत में कहा गया है कि एक नवंबर और चार नवंबर 1984 के बीच सिख समुदाय के 30,000 लोगों निशाना बनाया गया। उनको यातना दी गई, दुष्कर्म किया गया और हत्याएं की गईं। अपराधियों को सत्ताधारी कांग्रेस पार्टी ने संगठित और निर्देशित किया था।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You