'ब्रिटेन को नेट माइग्रेशन टार्गेट से छात्रों को हटा देना चाहिए'

  • 'ब्रिटेन को नेट माइग्रेशन टार्गेट से छात्रों को हटा देना चाहिए'
You Are HereInternational
Friday, December 06, 2013-5:02 PM

लंदन: दिग्गज प्रवासी भारतीय उद्योगपति एवं शिक्षाविद लार्ड स्वराज पॉल ने कहा है कि ब्रिटेन को नेट माइग्रेशन टार्गेट से छात्रों को हटा देना चाहिए, क्योंकि मौजूदा आव्रजन प्रणाली ने भारत एवं चीन जैसे देशों से मिल रही प्रतियोगिता के बीच ब्रिटेन में उच्च शिक्षा बाजार को प्रभावित किया है।

वोल्वरहैम्पटन और वेस्टमिंस्टर विश्वविद्यालयों के कुलपति लार्ड पॉल ने उच्च गुणवत्ता की शिक्षा के आर्थिक विकास में योगदान पर एक चर्चा में भाग लेते हुए कहा, ‘‘लंदन हमेशा सबसे अच्छे अंतरराष्ट्रीय छात्रों को आकर्षित करता रहा है, लेकिन हमारी आव्रजन प्रणाली में बदलाव से पैदा हुई चुनौतियों के कारण अमेरिका, भारत और चीन की तुलना में यहां छात्रों की संख्या में कमी आ रही है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘आव्रजन प्रणाली में बदलाव के कारण उच्च शिक्षा का हमारा बाजार प्रभावित हो रहा है। यह इस समय इंग्लैंड की अर्थव्यवस्था का 5 अरब पौंड है और 2025 तक इसके 16 अरब 90 करोड़ पौंड होने का अनुमान है। इसलिए मुझे लगता है कि हमें नेट माइग्रेशन टार्गेट से छात्रों को हटा देना चाहिए, क्योंकि अधिकतर छात्र कुछ ही समय के लिए यहां आते हैं।’’
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You