बान ने सीरिया में धार्मिक हिंसा पर चिंता जताई

  • बान ने सीरिया में धार्मिक हिंसा पर चिंता जताई
You Are HereInternational
Wednesday, December 11, 2013-2:13 AM

संयुक्त राष्ट्रः संयुक्त राष्ट्र (यूएन) महासचिव बान की-मून ने मालौला शहर में ननो के एक समूह के लापता हो जाने के बाद, सीरिया में धर्म, समुदाय और जातीय संबद्धताओं के आधार पर लोगों पर हो रहे हमलों पर चिंता जताई है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, सोमवार को जारी एक बयान में बान ने कहा कि वह ‘‘सीरिया के संघर्ष में धर्मस्थलों और धार्मिक प्रतिनिधियों को निशाना बनाए जाने से बहुत परेशान हैं।’’

बान ने कहा कि सीरियाई राजधानी दमिश्क से लगभग 56 किलोमीटर दूर मालौला के सेंट टेकला ऑर्थोडॉक्स कॉनवेंट से 12 ननों के लापता हो जाने से चिंताएं और बढ़ गई हैं। कथित तौर पर पिछले हफ्ते शहर में विद्रोहियों के कब्जे के बाद शुक्रवार को लापता ननों का एक वीडियो आया जिसमें उन्हें स्वस्थ दिखाया गया और इस बात का खंडन किया गया कि उनका अपहरण किया गया है।

बयान में कहा गया, ‘‘संयुक्त राष्ट्र धर्म, समुदाय या जातीय आधार पर लोगों को निशाना बनाए जाने को अस्वीकार करता है।’’ बयान में आगे कहा गया है, ‘‘पूरे सीरिया में नागरिक खतरे में हैं, उनकी सुरक्षा होनी चाहिए।’’


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You