FBI ने बब्बर खालसा के संदिध आतंकी को गिरफ्तार किया

  • FBI ने बब्बर खालसा के संदिध आतंकी को गिरफ्तार किया
You Are HereInternational
Friday, December 20, 2013-1:37 AM

वाशिंगटन: अमेरिकी जांच एजेंसी एफबीआई ने भारत में आतंकी हमलों की योजना बना रहे सिख अलगाववादी समूहों को साजो सामान उपलब्ध करवाने के आरोप में भारतीय मूल के एक अमेरिकी व्यक्ति को गिरफ्तार किया है।

संघीय जांच ब्यूरो (एफबीआई) ने बुधवार को नेवादा के रेनो निवासी 39 वर्षीय बलविंदर सिंह को गिरफ्तार किया। बलविंदर पर आतंकियों को धन उपलब्ध करवाने, विदेश में लोगों की हत्या या उन्हें नुकसान पहुंचाने का षडयंत्र रचने और आव्रजन रिकॉर्ड से जुड़े कई अन्य मामले दर्ज किये गये हैं। सिंह उर्फ झाज उर्फ हैप्पी, पोस्सी, बलजीत सिंह कथित रूप से दो आतंकी संगठनों- बब्बर खालसा इंटरनेशनल और खालिस्तान जिंदाबाद फोर्स से जुड़ा था।

सिंह को प्रारंभिक पेशी और अभियोग के लिए 20 दिसंबर को मजिस्ट्रेट न्यायाधीश के समक्ष पेश किया जाना है। सिंह भारत का नागरिक था और उसने अमेरिका में जाकर शरण ले ली थी। फिलहाल वह अमेरिका का स्थायी नागरिक है। सिंह पर लगे आरोपों में एक आरोप बाहरी देश में लोगों की हत्या, अपहरण और उन्हें विकलांग बनाने की साजिश रचने और एक आरोप आतंकियों को साजोसामान आपूर्ति करवाने की साजिश रचने का है।

इसके अलावा उसपर आव्रजन दस्तावेज में गलत बयान देने का एक मामला, धोखाधड़ी से हासिल किए गए आव्रजन दस्तावेज के इस्तेमाल के दो मामले और एक मामला अवैध तरीके से पहचान दस्तावेज बनाने का है। अगर सिंह को दोषी पाया जाता है तो उसे उम्रकैद तक की सजा और हर आरोप पर 2.5 लाख डॉलर का जुर्माना हो सकता है। अभियोग में एफबीआई ने आरोप लगाया कि षडयंत्र का मुख्य उद्देश्य धन जुटाकर और हथियार हासिल करके भारत में आतंकी कृत्यों में सहयोग देकर बब्बर खालसा इंटरनेशनल और खालिस्तान जिंदाबाद फोर्स के लक्ष्यों को आगे बढ़ाना था।

अभियोग में यह भी आरोप लगाए गए कि षडयंत्र की रचना 30 नवंबर 1997 को शुरू हुई, जिसके बाद सिंह ने एक झूठी पहचान इस्तेमाल की और अमेरिका में झूठे पहचान दस्तावेज हासिल किए ताकि वह भारतीय अधिकारियों की पकड़ में आए बिना ही भारत की यात्रा कर सके। अभियोग में आरोप लगाया गया कि सिंह ने अमेरिका में रहने के दौरान भारत में आतंकी कृत्यों को अंजाम देने के लिए षडयंत्र में शामिल अन्य साथियों के साथ फोन पर बात की थी।

आरोप है कि सिंह ने षडयंत्र में शामिल अन्य साथियों को हथियार खरीदने के लिए धन भेजा। ये हथियार बब्बर खालसा इंटरनेशनल और खालिस्तान जिंदाबाद फोर्स के सदस्यों को भारत में आतंकी कृत्य अंजाम देने के लिए दिए जाने थे। ऐसा आरोप है कि सिंह ने भारत में आतंकवाद की योजना में मदद करने के लिए दूसरे साजिशकर्ताओं से मिलने के लिए अमेरिका से पाकिस्तान, भारत और दूसरे देशों की यात्रा की। सिंह ने षडयंत्र में शामिल अन्य सहयोगियों को आतंकवाद के कृत्य करने के तरीकों के बारे में सलाह दी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You