देवयानी मामले से खबरों में आया घरेलू कर्मियों के शोषण का मामला

  • देवयानी मामले से खबरों में आया घरेलू कर्मियों के शोषण का मामला
You Are HereInternational
Sunday, December 29, 2013-2:43 PM

न्यूयार्क: अमेरिका के न्यूयार्क शहर में भारत की उप वाणिज्य दूत देवयानी खोबरागड़े के साथ हुई घटना ने एक बार फिर घरेलू कर्मियों के शोषण की खबरों को सुर्खियों में ला दिया है। घरेलू कर्मियों का मामला भारत और अमेरिका में अलग-अलग दृष्टियों से देखा जाता है।

भारत में घरेलू नौकर को कर्मचारी नहीं माना जाता है और उनकी सामाजिक प्रतिष्ठा नहीं के बराबर होती है। घरेलू कर्मियों को दिए जाने वाले वेतन का मामला आपसी बातचीत से होता है। वे अधिकतर गैर संगठित क्षेत्र से आते हैं और किसी रोजगार अनुबंध के बगैर काम कर रहे होते हैं।

दूसरी तरफ अमेरिका में सदियों पुरानी दास प्रथा के ऐतिहासिक अपमान से वहां के लोग अभी तक नहीं उबर सके हैं। घरेलू नौकरों के साथ किया जाने वाला व्यवहार उन्हें गुलामी प्रथा की याद दिलाता है और इसीलिए वे उनके अधिकारों के पक्ष में अधिक मजबूती से खड़े होते हैं।

अमेरिका में घरेलूकर्मियों को अच्छा वेतन मिलता है, लेकिन यहां के नागरिक इस काम को पसंद नहीं करते, इसीलिए यहां घरेलूकर्मियों की मांग दूसरे देशों से यहां आए लोग पूरी करते हैं और यहीं से शुरू हो जाती है शोषण की एक नई कहानी। निर्धारित समय से अधिक और जबरन काम कराना, ओवरटाइम नहीं देना, बदतर रहन-सहन, समय पर वेतन नहीं देना, पासपोर्ट जैसे जरूरी दस्तावेज जब्त कर लेना, धमकी देना, शारीरिक शोषण और यौन शाषेण आम शिकायतें हैं। ह्यूमैन राइट वाच के अनुसार, 2008 में अमेरिका में हर सप्ताह एक घरेलू कामगार की आकस्मिक मौत होती थी।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You