पाक सेना का अभी भी मुझे समर्थन प्राप्त: मुशर्रफ

  • पाक सेना का अभी भी मुझे समर्थन प्राप्त: मुशर्रफ
You Are HereInternational
Sunday, December 29, 2013-9:35 PM

इस्लामाबाद : पाकिस्तान के पूर्व सैन्य शासक ने आज कहा कि उनके खिलाफ देशद्रोह के मामले से ‘बदले की भावना’ का आभास होता है और इस बात को खारिज कर दिया कि पाकिस्तान की शक्तिशाली सेना ने उन्हें कानूनी लड़ाई में छोड़ दिया है। यह पूछे जाने पर कि क्या सेना ने उन्हें छोड़ दिया है, मुशर्रफ ने कहा, ‘‘मैंने ब्रिगेडियर और सेना प्रमुख स्तर पर नेतृत्व किया है। 6. 5 लाख सैन्यकर्मियों से पूछ लीजिए।’’

मुशर्रफ ने कहा कि उन्होंने नेता के तौर पर सेना का नेतृत्व किया न कि कमांडर के तौर पर। उन्होंने यहां अपने फार्महाउस में मीडिया से बातचीत में कहा कि उनके खिलाफ देशद्रोह के मामलों ने सेना को परेशान किया है। जिस तरीके से उनके मामले को लिया गया है उससे बदले की भावना का आभास होता है।

उन्होंने कहा, ‘‘मैं कहना चाहूंगा कि पूरी सेना परेशान है...मुझे सेना के बारे में पता चली बातों पर कोई संदेह नहीं है...वह इस मुद्दे पर पूरी तरह से मेरे साथ है।’’ मुशर्रफ ने इससे पहले एआरवाई समाचार चैनल को दिए गए साक्षात्कार में कहा कि अपने नौ साल के कार्यकाल के दौरान उन्होंने जो कुछ भी गलती की हो उसके लिए माफी मांगते हैं। उन्होंने कहा कि वह अपने खिलाफ दर्ज मामलों का सामना करेंगे और कायर की तरह नहीं भागेंगे। उन्होंने कहा कि 6.5 लाख की सेना ने उन्हें नहीं छोड़ा है। देशद्रोह के आरोपों पर मुशर्रफ 1 जनवरी को एक विशेष अदालत में पेश होने वाले हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You