अदालत में मुशर्रफ के वकील व अभियोजक में कहासुनी

  • अदालत में मुशर्रफ के वकील व अभियोजक में कहासुनी
You Are HereInternational
Monday, January 06, 2014-6:06 PM

इस्लामाबाद: पाकिस्तान के पूर्व सैन्य शासक परवेज मुशर्रफ के वकील और अभियोजक के बीच आज विशेष अदालत में उस वक्त कहासुनी हो गई जब अभियोजक ने मुशर्रफ को एक सैन्य अस्पताल में ‘छिपा हुआ’ ‘भगोड़ा’ करार दिया। सुनवाई के दौरान अभियोजक अकरम शेख ने मुशर्रफ पर आरोप लगाया कि वह जानबूझकर अदालत की सुनवाई में नहीं पहुंच रहे हैं तथा उन्होंने तीन न्यायधीशों की पीठ से कहा कि पूर्व सैन्य शासक के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया जाए।

अदालत ने अभियोजक की इस मांग को खारिज कर दिया। साल 2007 में आपातकाल लगाने के मामले में मुशर्रफ के खिलाफ घोर राष्ट्रद्रोह का मामला चलाया जा रहा है। विशेष अदालत ने मुशर्रफ को आज निजी तौर पर उपस्थित होने से छूट दे दी, लेकिन अधिकारियों से कहा कि वे कल सुबह 11:30 बजे तक उनके चिकित्सा रिकॉर्ड अदालत के समक्ष प्रस्तुत करें। मुशर्रफ के वकील अहमद रजा कसूरी ने सुनवाई के बाद संवाददाताओं से बातचीत करते हुए शेख की आलोचना की और कहा कि यह मामला एक पूर्व राष्ट्रपति के खिलाफ सुनवाई का नहीं, बल्कि सैन्य बलों की संस्था की सुनवाई का है।

कसूरी ने कहा, ‘‘अभियोजक ने एएफआईसी (सैन्य बल हृदय संस्थान) को एक ठिकाना बताया है और उन्होंने मुशर्रफ को भगोड़ा करार दिया। यह पाकिस्तानी सेना का अपमान है।’’ उन्होंने कहा कि मुशर्रफ ने 40 साल तक की सेना की सेवा की है, लेकिन अब उन्हें ‘एक सैन्य अस्पताल में छिपा हुआ’ बताया जा रहा है।

मुशर्रफ के वकील ने कहा, ‘‘क्या यह उचित है?’’ शेख ने कसूरी की बात को खारिज करते हुए कहा कि कुछ लोग इस मामले में सेना को घसीटने का प्रयास कर रहे है। सरकारी अभियोजक ने कहा, ‘‘यह किसी संस्था के खिलाफ मामला नहीं है, बल्कि एक व्यक्ति के खिलाफ जो कानून से बच निकलने का प्रयास कर रहा है।’’


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You