धार्मिक विविधता से हमारी संस्कृति समृद्ध हुई: ओबामा

  • धार्मिक विविधता से हमारी संस्कृति समृद्ध हुई: ओबामा
You Are HereInternational
Thursday, January 16, 2014-2:09 PM

वाशिंगटन: अमेरिका द्वारा ‘‘सभी धर्मों’’ और ‘‘धर्म में विश्वास नहीं करने वालों’’ का स्वागत किए जाने की बात कहते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति ओबामा ने कहा है कि यहां हिंदू धर्म, सिख धर्म और इस्लाम धर्म समेत विभिन्न धर्मों की मौजूदगी से उपजी धार्मिक विविधता ने देश की संस्कृति को समृद्ध किया है।

ओबामा ने 16 जनवरी को धार्मिक स्वतंत्रता दिवस के रूप में घोषित करते हुए कहा, ‘‘अमेरिका में सभी धर्मों के लोगों का स्वागत है और ऐसे लोगों को भी अमेरिका ने गले लगाया, जिनकी किसी भी धर्म में आस्था नहीं है। अमेरिका में ईसाई और यहूदी, मुस्लिम और हिंदू, बौद्ध, सिख, नास्तिक और आस्तिक हैं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘हमारी धार्मिक विविधता ने हमारी संस्कृति को और समृद्ध किया है तथा यह हमें याद दिलाता है कि हमें जोड़कर एक रखने में हमारे धर्म की नीतियों, शरीर के रंग या हमारे नामों के मूल की कोई भूमिका नहीं है।’’ राष्ट्रपति ने कहा, ‘‘जो बात हमें एक अमेरिकी बनाती है वह है- हमारे सांझा आदर्शों यानी स्वतंत्रता, समानता, न्याय और मानव के रूप में अपना खुद का मार्ग बनाने के अधिकार का पालन।’’

ओबामा ने कहा, ‘‘आने वाले वर्षों में मेरा प्रशासन अमेरिका और पूरी दुनिया में धार्मिक स्वतंत्रता को बढ़ावा देने के लिए प्रतिबद्ध रहेगा।’’ उन्होंने कहा कि अमेरिका हर देश के लोगों के साथ गर्व के साथ खड़ा है, जो कि अपनी मर्जी के धर्म के बारे में सोचना, उसपर यकीन करना और उसका पालन करना चाहते हैं। इसके अलावा ओबामा ने सभी देशों से आग्रह किया वे स्थिर, समृद्ध और शांतिपूर्ण भविष्य के लिए धार्मिक स्वतंत्रता को राष्ट्र और वैश्विक दोनों ही स्तर पर सार्वभौमिक अधिकार और महत्वपूर्ण कारक के रूप में मान्यता दें।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You