थाइलैंड में अराजकता की चेतावनी के बावजूद चुनाव

  • थाइलैंड में अराजकता की चेतावनी के बावजूद चुनाव
You Are HereInternational
Tuesday, January 28, 2014-6:45 PM

बैंकाक: थाईलैंड की प्रधानमंत्री यिंगलिक शिनावात्रा ने आज इस बात की पुष्टि की कि दो फरवरी. रविवार को निर्धारित संसदीय चुनाव कराए जाएंगे। प्रधानमंत्री ने चुनाव निर्धारित तिथि पर कराने की घोषणा इस चेतावनी के बावजूद की है कि सरकार विरोधी प्रदर्शनों तथा हिंसा को देखते हुए चुनाव के चलते अराजकता और बढ़ सकती है।

बैंकाक में सेना के परिसर के एक भाग में प्रधानमंत्री ने चुनाव आयोग के अधिकारियों से भेंट की और उन्हें दो फरवरी के चुनाव की तैयारी के लिए कहा। जिस समय प्रधानमंत्री चुनाव आयोग के अधिकारियों के साथ बातचीत कर रही थीं। बाहर लगभग 500 प्रदर्शनकारी प्रदर्शन कर रहे थे। उनके ऊपर किसी अज्ञात व्यक्ति ने गोली चलाई जिससे एक व्यक्ति घायल हो गया। गोली चलाने वाले को भी चोट आ गई।

प्रधानमंत्री ने कहा कि हमें चुनाव कराना होगा और चुनाव आयोग के अधिकारी देश के संविधान के अनुसार चुनाव कराएंगे लेकिन प्रदर्शनकारियों ने चुनाव में भाग लेने अथवा उसे स्वीकार करने से इन्कार कर दिया है। अगर चुनाव होता है तो उसमें प्रधानमंत्री की पार्टी की जीत निश्चित है। चुनाव आयोग अशांत स्थिति को देखते हुए चुनाव को टालना और इसे बाद में स्थिति में सुधार आने के बाद कराना चाहता था किन्तु प्रधानमंत्री ने इसे स्वीकार नहीं किया।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You