'चुनाव से प्रभावित नहीं होगा भारत-अमेरिका संबंध'

  • 'चुनाव से प्रभावित नहीं होगा भारत-अमेरिका संबंध'
You Are HereInternational
Saturday, February 08, 2014-1:45 PM

वॉशिंगटन: ओबामा सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि भारत में आम चुनावों के नतीजे जो भी हों, उससे भारत-अमेरिका कूटनीतिक संबंध में फर्क नहीं पड़ेगा। हालिया समय में दोनों पक्षों के संबंधों में आई खटास के बावजूद अधिकारी से बड़े विश्वास से कहा कि चुनाव के बाद भारत-अमेरिका के आपसी संबंध पहले की तरह रहेगें।

अमेरिका की राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार सुजेन ई. राइस ने कहा, ‘‘लगभग दो दशकों से भारत और अमेरिका के प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति एवं दोनों देशों की राजनीतिक पार्टियों ने मिलकर दोनों देशों की दरारों को भरने का काम किया है।’’

भारतीय राजदूत एस. जयशंकर के निवास पर एस्पेन इंस्टीट्यूट अमेरिका-भारत वार्ता के दौरान राइस ने कहा, ‘‘चरण दर चरण हम अपने संबंध को मजबूत बना कर वर्तमान की वैश्विक चुनौतियों का सामना करने के काबिल बन रहे हैं। अमेरिका को पूर्ण विश्वास है कि भारत में आगामी आम चुनाव के जो भी नतीजे हों, लेकिन चुनावों के बाद भी दोनों देशों के बीच सहयोगात्मक और कूटनीतिक संबंध पहले की तरह जारी रहेंगे।’’

अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा की मुख्य सलाहकार राइस ने कहा कि उनके कहने का यह अर्थ नहीं है कि दोनों देशों को अपने संबंधों पर काम करने की आवश्यक्ता नहीं है, या हमारे सामने चुनौतियां नहीं हैं। उन्होंने कहा,‘‘दो शक्तिशाली राष्ट्रों के बीच संबंधों में कभी-कभी तनाव या खटास आना स्वभाविक है। जाहिर सी बात है कि हालिया समय की कुछ घटनाओं से हमारे सहयोगात्मक प्रयासों से ज्यादा हमारे बीच के मतभेद उजागर हुए हैं।’’राइस ने खोबरागड़े मामला या किसी अन्य मामले का जिक्र किए बिना यह बात कही।

उन्होंने आगे कहा, ‘‘लेकिन हमने साथ मिलकर अपने संबंधों को मजबूत बनाने के जितने प्रयास किए हैं, उनके सामने इस तरह की मुश्किलें बेहद निम्न स्तर पर देखी जानी चाहिए। हमें मतभेदों को रचनात्मक तरीके से सुलझाना चाहिए और महत्वपूर्ण कूटनीतिक संबंध के अनुरूप कदम उठाने चाहिए।’’

 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You