महिला ने जीती पति के शुक्राणु पाने की जंग

  • महिला ने जीती पति के शुक्राणु पाने की जंग
You Are HereInternational
Friday, March 07, 2014-5:05 PM

लंदन: ब्रिटेन के शहर बर्मिंघम में एक महिला ने अपने पति के जमे हुए शुक्राणु को बर्बाद न करने का केस जीत लिया है। बेथ वार्रेन नाम की इस महिला के पति ने कैंसर का इलाज शुरू कराने से पहले ही कानूनी दस्तावेज़ पर हस्ताक्षर करके लिखा था कि उसके मरने के बाद उसकी पत्नी उसका शुक्राणु इस्तेमाल कर सकती है।

सरकार द्वारा पति के शुक्राणु को नष्ट किए जाने पर उसने अदालत का दरवाजा खटखटाया। अदालत ने अपना फैसला बेथ के हक में ही सुनाया। आपको बता दें कि ब्रिटिश कानून के अनुसार, आपको 55 साल तक अपने शुक्राणु को किसी भी स्पर्म स्टोर में रखने का अधिकार है, लेकिन इसी के साथ यह भी जरूरी है कि आप हर दो साल बाद स्पर्म स्टोर को यह बताएं कि आप अपना स्पर्म रखना चाहते हैं या नहीं।

लेकिन पति के मरने के बाद अब शुक्राणुओं को सुरक्षित नहीं रखा जा सकता था, क्योंकि ब्रिटेन में स्पर्म को सुरक्षित रखने वाले संस्थान का कहना था कि अब जब इजाजत देने वाला ही नहीं रहा तो शुक्राणु को नष्ट कर दिया जाएगा। बेथ ने इसके लिए अदालत का सहारा लिया और केस जीत गई। केस को जीतने के बाद बेथ काफी खुश हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You