वैज्ञानिकों को मिली जुरासिक काल के जीवाश्मों की श्रृखंला

  • वैज्ञानिकों को मिली जुरासिक काल के जीवाश्मों की श्रृखंला
You Are HereInternational
Friday, March 07, 2014-7:09 PM

वाशिंगटन: चीन के उत्तर पूर्व क्षेत्र में स्थित लिआनिंग प्रांत में खुदाई के दौरान वैज्ञानिकों ने जीवाश्मों की एक श्रृंखला का पता लगाया है जिससे 6 करोड़ वर्ष पूर्व के जीवन का अध्य्यन करने में सहायता मिलेगी। कशेरूकी जीवाश्मकी के एक जर्नल में वैज्ञानिको ने दावा किया है कि पिछले दो दशकों में खुदाई के दौरान उन्हे मिले जुरासिक काल के जीवाश्मों में पंखों वाले डायनासोर, विचित्र प्रकार के उडऩे वाले कीड़े, स्तनधारी जीव तथा समुद्र के किनारे विचरने वाले जीव आदि के जीवाश्म शामिल हैं।

वैज्ञानिको का कहना है कि पौधे एवं जंतु के जीवाश्मों की मदद से उस काल के पर्यावरण की स्पष्ट व्याख्या की जा सकती है। शोध दल के सदस्य तथा बीजिंग में कशेरूकी जीवाश्मकी संस्थान के वैज्ञानिक कोरविन सुलीवान ने कहा कि उत्तर पूर्वी चीन के पश्चिम में स्थित लिओनिंग प्रांत के दाउहूगू गांव और आसपास के क्षेत्र में वैज्ञानिक दल के लिये यह अभूतपूर्व उपलब्धि थी क्योकि इन जीवाश्मों से इस क्षेत्र के पर्यावरण और जीवन का पता लगाने में मदद मिलेगी हालांकि इन जीवाश्मों की मदद से पूरी धरती के जीवनकाल अथवा पर्यावरण का पता लगाना मुमकिन नही है।

लंदन में क्वीन मैरी विश्वविद्यालय में जीवाश्मकी वैज्ञानिक डेविड होन ने जीवाश्मों की खूबसूरत श्रंखला के बारे में कहा कि शोध दल का सदस्य होना वास्तव में रोमांचक था। उन्हे खुदाई के दौरान परों वाले डायनासोर, छिपकली, अजीब तरह के स्तनधारी जीव और मछलियों के जीवाश्म मिले। एक छोटे से क्षेत्र में एक साथ इतनी प्रजातियों के जीवाश्म का पाया जाना वाकई अद्भुत था। डेविड ने कहा कि लिआनिंग प्रांत का यह क्षेत्र झीलों और घने पत्तेदार वृक्ष से भरपूर था जहां उन्हे 16 करोड़ वर्ष पूर्व सभ्यता और जीवन के अवशेष मिले।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You