‘पाकिस्तान ने बीमार ब्रिटिश कैदी को चिकित्सा सुविधा मुहैया कराने से इंकार किया’

  • ‘पाकिस्तान ने बीमार ब्रिटिश कैदी को चिकित्सा सुविधा मुहैया कराने से इंकार किया’
You Are HereInternational
Friday, March 14, 2014-3:25 AM

इस्लामाबाद: पाकिस्तान ने ईशनिंदा के मामले के दोषी करार दिए गए मानसिक रूप से बीमार ब्रिटिश कैदी को स्वतंत्र चिकित्सा विशेषज्ञ की सुविधा मुहैया कराने से इंकार कर दिया। ब्रिटेन की एक स्वयंसेवी संस्थान ने यह दावा किया है। ‘लीगल चैरिटी रिप्राइव’ ने कहा है कि पाकिस्तानी मूल के ब्रिटिश नागरिक मोहम्मद असगर तक स्वतंत्र चिकित्सा विशेषज्ञ की सुविधा पहुंचाए जाने की इजाजत मिलनी चाहिए ताकि उनकी चिकित्सा की स्थिति का पता लगाया जा सके।

असगर को साल 2010 में रावलपिंडी से गिरफ्तार किया गया था। उन पर आरोप था कि उन्होंने पैगम्बर होने का दावा करते हुए पत्र लिखे। जनवरी महीने में रावलपिंडी की एक अदालत ने उन्हें ईशनिंदा का दोषी करार देते हुए मौत की सजा सुनाई और उन पर 10 लाख रूपये का जुर्माना लगाया। बचाव पक्ष के वकील ने कहा कि असगर बीमारी का सामना कर रहे हैं, ऐसे में उनके मामले को मानवीय आधार पर निपटाया जाना चाहिए।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You