10 करोड़ न दिए तो होगा इस महिला का सिर कलम!

  • 10 करोड़ न दिए तो होगा इस महिला का सिर कलम!
You Are HereInternational
Tuesday, March 25, 2014-5:27 PM

रियादः इंडोनेशिया की 41 वर्षीय महिला सेतिनाह बिनती जुमादी अहमद पर अपने सऊदी अरब के मालिक नुरा अल-गरीब की हत्या का आरोप है, जिसके लिए उसे सिर कलम की सजा दी गई थी। इससे बचने के लिए उसके परिजनों से एक मिलियन पाउंड (करीब 10 करोड़ भारतीय रुपए) ब्लड मनी की मांग की गई है। यदि वह ऐसा नहीं करते तो दो हफ्तों के अंदर उसका सिर कलम कर दिया जाएगा।

2007 में अहमद ने अपने मालिक की हत्या की थी, जिसके बदले मृतक अल-गरीब के परिजन ने अहमद की जिंदगी बख्शने के एवज में एक मिलियन पाउंड 'ब्लड मनी' की मांग की है। हालांकि राशि जमा करने के लिए अहमद के परिवार को अब आम लोगों का भी साथ मिलने लगा है। लोगों ने इस भारी राशि को जुटाने में उसके परिवार की मदद करना शुरू कर दिया है। इस कड़ी में मशहूर इंडोनेशियाई सिंगर मेलानी सुबोनो ने भी अहमद की जिंदगी बचाने के लिए आवाज बुलंद की।
 
सुबोनो ने अपने ब्लॉग में लिखा, "इंडोनेशियाई प्रवासी कामगार अपने मेहनताने में से कुछ हिस्सा अहमद की जिंदगी बचाने के लिए जमा कर रहे हैं।" उन्होंने ये भी कहा, "हमारी सरकार की चुप्पी से कुछ फायदा नहीं होने वाला है। लिहाजा, हमने अपने स्तर पर शुरुआत की है।"

अहमद का आरोप है कि उसके मालिक ने उसका शारीरिक शोषण करना चाहा इतना ही नहीं, उसने उसके सिर को दीवार पर मारने की भी कोशिश की थी। मालिक की हत्या करने के बाद अहमद 37, 970 रियाल (भारतीय मुद्र में 6 लाख 12 हजार से ज्यादा रुपए) चुराकर वहां से फरार हो गई थी। 2010 में अहमद को कोर्ट ने सजा-ए-मौत का फैसला सुनाया था। 4 अप्रैल, 2014 को उसका सिर कलम किया जाना है। अगर अहमद का परिवार ये रकम अदा कर देता है, तो उसे उसे जिंदगी बख्श दी जाएगी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You