विमान दुर्घटना: ‘मलेशिया हमारे रिश्तेदारों को लौटाओ’

  • विमान दुर्घटना: ‘मलेशिया हमारे रिश्तेदारों को लौटाओ’
You Are HereInternational
Tuesday, March 25, 2014-8:36 PM

बीजिंग: दुर्घटनाग्रस्त मलेशियाई विमान पर सवार यात्रियों के करीब 300 नाराज रिश्तेदारों और मलेशिया के उच्चायोग के बाहर सुरक्षाकर्मियों के बीच आज संघर्ष हो गया। इससे पहले, रिश्तेदारों ने मानव श्रृंखला बनाई और हाथों में तख्तियां लेकर शांतिपूर्ण ढंग से मार्च किया। वे नारा लगा रहे थे कि मलेशियाई सरकार ने हमें धोखा दिया है, ‘‘मलेशिया हमारे रिश्तेदारों को लौटाओ।’’

चीन में जनाक्रोश का प्रदर्शन विरले देखने को मिलता है और मलेशिया के विमान एमएच 370 का पता लगाने के लिए जिस तरीके से जांच कार्य को आगे बढ़ाया गया, उसे देखते हुए शोकसंतप्त परिवारों और मित्रों ने मलेशियाई उच्चायोग की ओर मार्च किया। इस विमान में 239 लोग सवार थे, जिनमें से 154 चीन से थे। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार, प्रदर्शनकारियों ने बोतलें फेंकी और राजदूत से मिलने की मांग की। उन्होंने इमारत में प्रवेश करने का भी प्रयास किया।

सरकारी सीसीटीवी की खबर के अनुसार, प्रदर्शन उस समय शुरू हुआ जब रिश्तेदार एक होटल के समक्ष एकत्र हुए। इस स्थान पर मलेशियाई एयरलाइन ने पिछले दो सप्ताह से कई यात्रियों के रिश्तेदारों को रखा था। इसके बाद वे दूतावास की ओर बढ़ चले जिसके कारण सुरक्षा बल होटल के आसपास पहुंच गए और यहां तक कि दंगा पुलिस को भी तैनात किया गया।

प्रदर्शन ऐसे समय में शुरू हुआ है जब एक दिन पहले ही मलेशिया के अधिकारियों ने यह घोषणा की थी कि बीजिंग जा रहा बोइंग 777-200 विमान दक्षिण हिंद महासागर में दुर्घटनाग्रस्त हो गया है। कल रात होटल के पास भावुक और हिंसक दृश्य देखने को मिले और इसके बाद मलेशिया के प्रधानमंत्री नजीब रजाक ने घोषणा की कि विमान हिंद महासागर में आस्ट्रेलिया के तट से दूर नष्ट हो गया है।

सीसीटीवी में रिश्तेदारों का बयान दिखाया गया है जिसमें चीनी यात्रियों ने विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने के बयान पर सवाल खड़ा करते हुए कहा है कि यह प्रदर्शित करने के लिए कोई प्रत्यक्ष साक्ष्य नहीं है कि विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया है। बयान में मलेशिया सरकार पर यात्रियों के परिवारों को धोखा देने और सूचना छिपाने का आरोप लगाया गया जिससे खोज अभियान प्रभावित हुआ। खुद चीन सरकार भी रजाक के इस निष्कर्ष पर सवाल उठाती दिखी कि विमान दक्षिण हिंद महासागर में दुर्घटनाग्रस्त हो गया।  कल रात मलेशिया के राजदूत के साथ बैठक करने वाले चीनी उप विदेश मंत्री जाई हांगशेंग ने मलेशिया से यह बताने को कहा कि किस आधार पर यह निष्कर्ष निकाला गया। और सभी सूचनाएं उपलब्ध कराने को कहा जिसमें उपग्रह के आंकड़े भी शामिल हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You