चीनः यहां खाए जाते हैं पेशाब में उबले हुए अंडे

  • चीनः यहां खाए जाते हैं पेशाब में उबले हुए अंडे
You Are HereInternational
Thursday, April 03, 2014-10:16 AM

बीजिंगः पूरी दुनिया में बहुत तरह की अजीबोगरीब डिश तैयार की जाती है, जिसमें से एक डिश चीन में इन दिनों तैयार की जा रही है। इस डिश को बनाने के लिए ईस्टर से ठीक पहले तैयारी चल रही है, लेकिन इस डिश को सुनकर आपको घिन आने लगेगी। आपको बता दें कि चीन के झेजियांग प्रांत के डोंगयांग में हजारों सालों से यह डिश बनाई और खाई जा रही है। यह डिश तैयार की जाती है लड़कों के पेशाब से। जी हां, यह बिल्कुल सच हैं इस डिश के अनुसार, लड़कों के पेशाब में अंडे उबाले जाते हैं।

ब्रिटिश  वेबसाइट 'डेली मेल' में छपी खबर के अनुसार, इस साल भी पूरी दुनिया को डोंगयांग के शेफ उनकी डिश आजमाने का न्यौता दे रहे हैं। उनका कहना है कि इस बार ये अंडे बेहद अच्छी क्वालिटी के होंगे और उनमें एक 'खट्टा' स्वाद होगा।

लेकिन उससे भी ज्यादा हैरानी की बात यह है कि चीन में इन अंडों की खास 'सांस्कृतिक अहमियत' है। हजारों सालों से वसंत के मौसम में बच्चों के पेशाब में उबले हुए अंडे खाने की परंपरा रही है। शेफ लू मिंग बताते हैं कि स्थानीय स्कूलों से पेशाब इकट्ठा किया जाता है। लड़के बाल्टियों में पेशाब करते हैं और वहां से हर दिन ताजा पेशाब ले लिया जाता है।

2008 में स्थानीय शहर ने इन अंडों को 'सांस्कृतिक विरासत' घोषित कर दिया था। यहां तक कि यूनेस्को विश्व विरासत के दर्जे के लिए आवेदन करने की बात भी चर्चा में थी।

शेफ के अनुसार, उनका कहना हैं कि यह डिश शरीर के लिए हेल्दी होती हैं। इसे खाने से बुखार नहीं आता और आप ताजगी महसूस करते हैं। अंडों के दो बार पेशाब में उबाला जाता है पहले छिलके सहित बाद में छिलकों को उतार कर। इसके बाद ही इसे खाने के लिए परोसा जाता है। वह कहते हैं, 'हम इसे एक्सपोर्ट करने पर भी ध्यान दे रहे हैं क्योंकि हम चाहते हैं कि चीन से बाहर के लोग भी हमारी डिश की तारीफ करें।' हालांकि शेफ इस साल अंडों के खट्टे होने का कारण बता नहीं पाया।

हालांकि न्यूज एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक, चीनी मेडिकल एक्सपर्ट इन अंडों के संबंध में लोगों को चेता चुके हैं, जबकि कुछ लोग इस थ्योरी को नहीं मानते। यहां के एक निवासी वांग जुग्शिंग कहते हैं, 'हमारे यहां यह मान्यता है कि पेशाब में उबले हुए अंडे सेहत के लिए अच्छे होते हैं और इनसे जुखाम वगैरह नहीं होता, लेकिन मैं इसे नहीं मानता और न ही उन्हें खाता हूं।'


 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You