आसाराम की मुश्किलें बढ़ीं, दूसरा पौरूष परीक्षण भी पोजिटिव

  • आसाराम की मुश्किलें बढ़ीं, दूसरा पौरूष परीक्षण भी पोजिटिव
You Are HereNational
Saturday, October 19, 2013-5:06 AM

अहमदाबाद: आसाराम पर कराए गए दूसरे पौरूष परीक्षण की रिपोर्ट पोजिटिव है। पिछले महीने जोधपुर में भी ऐसा परीक्षण पोजिटिव रहा था। पुलिस सेक्टर-1 के संयुक्त पुलिस आयुक्त जे के भट्ट ने संवाददाताओं से कहा कि आज आसाराम का पौरूष परीक्षण कराया गया। हमें मेडिकल रिपोर्ट मिली है जो राजस्थान के परीक्षण परिणाम जैसे ही हैं।

बहत्तर वर्षीय आसाराम का पिछले महीने जोधपुर में भी पौरूष परीक्षण कराया गया था और उसकी रिपोर्ट भी पोजिटिव रही थी। जब भट्ट से पूछा गया कि क्या आसाराम का झूठ पकड़ने वाली मशीन से भी परीक्षण (लाई डिटेक्टर परीक्षण) कराया जाएगा, उन्होंने कहा कि कुछ खास परीक्षणों के लिए संबंधित व्यक्ति की सहमति जरूरी है और आसाराम ने लाइ डिटेक्टर परीक्षण से इनकार कर दिया है। पहले भी यह परीक्षण नहीं किया जा सका था क्योंकि आसाराम ने पुलिस से सहयोग करने से इनकार कर दिया था।

जब भट्ट से पूछा गया कि क्या आसाराम से हिरासत अवधि में पीड़िता के सामने पूछताछ की गई तब उन्होंने कहा कि दोनों से पूछताछ की गई लेकिन एक दूसरे के आमने सामने नहीं, क्योंकि दोनों ने ऐसा किए जाने से मना कर दिया था। आसाराम की मौजूदा हिरासत (शनिवार यानी 19 अक्टूबर को) अवधि खत्म होने के बाद समझा जाता है कि पुलिस अदालत से उनकी हिरासत मांगेगी। हाल में, सूरत पुलिस ने दो शिकायतें- एक आसाराम और दूसरी उनके बेटे नारायण साईं के खिलाफ दर्ज की थी। ये शिकायतें बलात्कार, यौन हिंसा, अवैध रूप से बंधक बनाने आदि से संबंधित हैं। दो बहनों ने इन दोनों पर ये आरोप लगाए थे।

अपनी शिकायत में बड़ी बहन ने आसाराम पर 1997-2006 के दौरान बार बार यौन उत्पीड़न करने का आरोप लगाया। उस वक्त वह अहमदाबाद के बाहरी इलाके में आसाराम के आश्रम में रहती थी। छोटी बहन ने नारायण साईं के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है। उसने उस पर 2002-2005 के दौरान कई बार यौन उत्पीड़न करने का आरोप लगाया है। उन दिनों वह आसाराम के सूरत आश्रम में रहती थी।

आसाराम को जोधपुर की अदालत से ट्रांजिट हिरासत हासिल कर सोमवार की शाम अहमदाबाद लाया गया था। वह यौन उत्पीड़न के एक अन्य मामले में वहां अगस्त से जेल में थे। संयुक्त पुलिस आयुक्त ने यह भी कहा कि आसाराम से पांच घंटे तक पूछताछ हुई और उस दौरान कई नाम सामने आए। आसाराम की बेटी इस घटना से जुड़े सवालों को टाल गयीं और उन्होंने कहा कि वह आसाराम की बेटी के रूप में जाने जाने के बजाय अपनी अलग पहचान बनाना चाहती है। (एजेंसी)


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You