प्रधानमंत्री का 5 दिवसीय रूस, चीन दौरा रविवार से

  • प्रधानमंत्री का 5 दिवसीय रूस, चीन दौरा रविवार से
You Are HereNational
Saturday, October 19, 2013-7:31 PM

नई दिल्ली : प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह रविवार को रूस और चीन की यात्रा पर रवाना होंगे। अगले वर्ष 2014 में होने जा रहे आम चुनाव से पहले यह संभवत: उनकी अंतिम विदेश यात्रा होगी। दोनों देश संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के स्थायी सदस्य हैं और विश्वस्तर के महत्वपूर्ण खिलाड़ी हैं।

मास्को की यात्रा के दौरान जहां ऊर्जा, रक्षा और व्यापार का मुद्दा शीर्ष पर रहने की उम्मीद व्यक्त की जा रही है, बीजिंग यात्रा के दौरान सीमा पर टकराव को टालने और व्यापार एवं निवेश को बढ़ावा देने पर जोर रह सकता है।

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के नियमंत्रण पर प्रधानमंत्री 20 से 22 दिसंबर तक मास्को की यात्रा पर रहेंगे। इस दौरान वह सोमवार को 10वें भारत-रूस शिखर वार्ता में हिस्सा लेंगे। मास्को में इस सिलसिले की यह पांचवीं बैठक होगी। दोनों देश तमिलनाडु के कुडनकुलम परमाणु ऊर्जा संयंत्र के लिए तीसरे और चौथे रिएक्टर की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए समझौते को आकार देने में जुटे हैं। मास्को स्थित इंस्टीट्यूट ऑफ इंटरनेशनल रिलेशंस मनमोहन सिंह को मानद उपाधि से विभूषित करेगा। दोनों पक्षों के बीच दोषी और सजा पाए व्यक्तियों के आदान-प्रदान सहित कई समझौतों पर हस्ताक्षर होने की उम्मीद की जा रही है।

एक विश्वस्त सूत्र ने आईएएनएस को बताया कि पिछले महीने हादसे का शिकार बनी पनडुब्बी आईएनएस सिंधुरक्षक की जांच के परिणाम की भी मांग की है। रूस निर्मित किलो क्लास पनडुब्बी एक विस्फोट के बाद डूब गई थी और उसमें सवार 18 लोग मारे गए। इस यात्रा के अगले चरण में 22 से 24 अक्टूबर तक प्रधानमंत्री बीजिंग की यात्रा पर रहेंगे। बीजिंग यात्रा के दौरान सीमा रक्षा सहयोग समझौता सहित सीमा मुद्दा के छाए रहने की उम्मीद की जा रही है। समझौते का उद्देश्य 4000 किलोमीटर सीमा क्षेत्र में दोनों देशों की सेनाओं के बीच टकराव की स्थिति को टालना है। चीनी राष्ट्रपति झी जिंगपिंग मनमोहन सिंह के सम्मान में 23 अक्टूबर को भोज देंगे।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You