कश्मीर मुद्दे पर बाहरी हस्तक्षेप की जरूरत नहीं: थरूर

  • कश्मीर मुद्दे पर बाहरी हस्तक्षेप की जरूरत नहीं: थरूर
You Are HereNational
Tuesday, October 22, 2013-11:08 AM

नई दिल्ली: कश्मीर मुद्दे पर तीसरे पक्ष के हस्तक्षेप की संभावनाओं से इनकार करते हुए केन्द्रीय मंत्री शशी थरूर ने कल कहा कि कश्मीर के मामले में पाकिस्तान यदि शिमला समझौते के अनुरूप कार्य करे तो बाहरी हस्तक्षेप का प्रश्न ही नहीं उठेगा।

68वें संयुक्त राष्ट्र दिवस के अवसर पर आयोजित ‘पीसमेकर इन नीड ऑफ पीसमेकर?’ विषय पर आयोजित लेक्चर के बाद संवाददाताओं से बातचीत में केन्द्रीय मानव संसाधन राज्य मंत्री ने कहा, ‘‘हमें किसी के हस्तक्षेप की जरूरत नहीं है। हमें जरूरत है कि दोनों पक्षों के लोग औपचारिक अंतरराष्ट्रीय बाध्यता के मुताबिक व्यवहार करें।’’

भारत ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की कश्मीर मुद्दे पर अमेरिकी हस्तक्षेप की मांग को कल खारिज कर दिया। उन्होंने जोर देते हुए कहा कि यदि दोनों देश उनके बीच हुए समझौते के आधार पर काम करें तो तीसरे पक्ष के हस्तक्षेप की आवश्यकता ही नहीं है।

थरूर ने कहा कि शिमला समझौते पर साथ में काम करने के बाद, यदि वे उसकी भावनाओं के अनुसार काम करें, उसके बाद हुए समझौतों जैसे लाहौर समझौते आदि का पालन करें तो... हमें तीसरे पक्ष की इसमें जरूरत नहीं होगी। उन्होंने जोर देकर कहा कि पाकिस्तान की धरती का उपयोग भारत के खिलाफ आतंकवाद के लिए नहीं किया जाना चाहिए।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You