पीक ऑवर में 8वीं बार आईं तकनीकी खराबी,मेट्रो ठप, यात्री हलकान

  • पीक ऑवर में 8वीं बार आईं तकनीकी खराबी,मेट्रो ठप, यात्री हलकान
You Are HereNational
Saturday, October 26, 2013-5:02 PM

नई दिल्ली: दिल्ली मैट्रो के नोएडा-वैशाली-द्वारका रूट पर सिग्नल फेल होने के कारण यात्रियों को करीब सवाघंटे से अधिक समय तक भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। इस वर्ष 8वीं बार इस रूट पर तकनीकी खराबी आई है। इस रूट पर तकनीकी खराबी कल शाम  6:10 पर शुरू हुई, जिसे दुरुस्त करने के बाद मैट्रो सेवा करीब 7:30 बजे के बाद ही समान्य हो सकी। इस दौरान यमुना बैंक व राजीव चौक जैसे इंटरचैंज मैट्रो स्टेशनों पर यात्रियों की भीड़ जमा हो गई।

दूसरी ओर इस रूट पर पडऩे वाले एक दर्जन से अधिक मैट्रो स्टेशनों पर यात्रियों की लंबी कतार लग जाने से स्टेशन के अंदर प्रवेश भी कुछ समय के लिए बंद कर दिया गया। डी.एम.आर.सी. के मुताबिक यमुना बैंक स्टेशन पर सिग्नल में खराबी के बाद लगभग आधे घंटे तक इंद्रप्रस्थ से द्वारका के बीच ही ट्रेन को चलाया गया। यानी इंद्रप्रस्थ मैट्रो स्टेशन से नोएडा तथा वैशाली (लाइन-3 व 4) के बीच मैट्रो सेवा पूरी तरह से ठप्प रही जिसकी वजह से करीब डेढ़ लाख यात्री परेशान हुए। 

मैट्रो में खराबी चूंकि ऐसे वक्त में आई थी, जब दिल्ली-एनसीआर के लाखों लोग दफ्तर से घर जा रहे होते हैं। ऐसे में मैट्रो का इंतजार छोड़ लोगों ने बस व आटो समेत तमाम सार्वजनिक वाहनों का सहारा लेना शुरू कर दिया। देखते ही देखते कनॉट प्लेस, आईटीओ, लक्ष्मी नगर, करोल बाग, नोएडा, आनंद विहार समेत दर्जनों बस स्टैंड पर यात्रियों की भीड़ लग गई। हैरत की बात यह थी कि लोगों को समूचित परिवहन व्यवस्था उपलब्ध कराने का दावा करने वाली दिल्ली परिवहन निगम तथा कलस्टर की बसें भी कम पड़ गई। आलम यह था कि जिस रूट की बसें स्टैंड पर आती उसमें यात्री लटकने लग जा रहे थे।

हजारों यात्रियों ने जान जोखिम में डालकर बस की यात्रा करने के बजाय ऑटो का सहारा लेना ही मुनासिब समझा। क्योंकि राजधानी की आबादी के मुताबिक यहां बसों की संख्या 11 हजार है, लेकिन यहां बसों की संख्या महज छह हजार ही है। ऐसे में यात्रियों को कई रूटों पर बसों का 20-30 मिनट तक इंतजार करना पड़ता है तो कई रूट पर बसें आज तक नहीं चलाई गई। जबकि वहां के निवासी परिवहन विभाग से लेकर दिल्ली सरकार तक को कई बार खत लिख चुुके हैं।

डी.एम.आर.सी. के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी (ई.डी) अनुज दयाल ने बताया कि सिग्नल फेल होने की वजह से यह दिक्कत हुई जिसे दुरुस्त कर 6:40 बजे तक सेवा की शुरूआत कर दी गई। यमुना बैंक मैट्रो स्टेशन में आई इस खराबी को दुरुस्त करने के दौरान द्वारका रूट पर इंद्रप्रस्थ से ट्रेन चलाई गई। इस लाइन में ओ.एच.ई. की खराबी पहले ही उजागर हो चुकी है। इसके अलावा इंद्रप्रस्थ व यमुना बैंक के बीच पहले भी सिग्नल फेल होने की समस्या सामने आती रही है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You