गोयल के भीतरघात से भाजपा परेशान

  • गोयल के भीतरघात से भाजपा परेशान
You Are HereNational
Tuesday, October 29, 2013-4:01 PM

नई दिल्ली : डॉ. हर्षवर्धन को मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार बनाकर भाजपा अपने विरोधी राजनीतिक पाॢटयों को चुप कराने में भले ही काफी हद तक सफल हो गई हो, लेकिन अपने ही घर में उसे भीतरघात का सामना करना पड़ रहा है।

पार्टी सूत्रों का कहना है कि मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार नहीं बनाए जाने से दुखी प्रदेश भाजपा अध्यक्ष विजय गोयल ने भीतरघात शुरू कर दी है। बाहर से वह बेशक कार्यकत्र्ताओं को एकजुटता का संदेश दे रहे हों लेकिन अंदरखाने वोट काटो अभियान शुरू कर दिया है।
 
यही वजह है कि गडकरी ने सोमवार को वर्तमान व पूर्व जिलाध्यक्षों की एक बैठक बुलाई और उन्हें व्यक्ति के बजाय पार्टी में आस्था रखने की सलाह दी। साथ ही उन्होंने टिकट बंटवारे को लेकर भी जिलाअध्यक्षों की राय ली जिसमें ये जानने की कोशिश की गई कि पूर्व जिला अध्यक्ष गोयल की नीतियों से कितने संतुष्ट हैं। गोयल ज्यादातर चेहते जिलाध्यक्ष हैं।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You