डेढ़ लाख के यूनीपोल से कमाई हो रही महज 5 हजार

  • डेढ़ लाख के यूनीपोल से कमाई हो रही महज 5 हजार
You Are HereNational
Wednesday, October 30, 2013-3:18 PM

नई दिल्ली : आमदनी अठन्नी खर्चा रुपैया। आजकल दिल्ली नगर निगम इसी फंडे पर काम कर रही है। निगम द्वारा लगभग एक करोड़ की लागत से लगाए गए 28 यूनीपोल साइटों से निगम को महज डेढ़ लाख रुपए की कमाई होगी। नजफगढ़ के ग्रामीण क्षेत्र में निगम की यूनीपोल साइटों को लेने के लिए कोई ठेकेदार सामने नहीं आ रहा था, जिसके चलते निगम ने बेहद सस्ते दामों में इन साइटों का ठेका देने का फैसला किया है।

नजफगढ़ ग्रामीण क्षेत्र में सरकार और निजी कंपनियों के प्रोडक्ट तथा अन्य लाभकारी योजनाओं को जनता तक पहुंचाने से दूरी बनाने वाले ठेकेदार अब ग्रामीण क्षेत्रों में आने के लिए तैयार हो गए है। नजफगढ़ की 28 बैक-टू-बैक यूनीपोल साईटों के लिए दर्जनों ठेकेदारों ने टेंडर डाला है। दक्षिणी दिल्ली नगर निगम की कुल 62 यूनीपोल साईटों के लिए आमंत्रित किए गए टेंडर में करीब 35-40 ठेकेदारों ने रूची दिखाई है। निगम यूनीपोल साईटों पर प्रदर्शित किए जाने वाले विज्ञापन साइटों के लिए कल टेंडर खोलने जा रही है।

दिलचस्प यह है कि नजफगढ़ ग्रामीण क्षेत्र में बनाए जाने वाले विज्ञापन साईट से पहले ही निगम की साइटों के लिए टेंडर आमंत्रित किए गए है। आचार संहिता लगने के चलते निगम इस साइटों को नहीं बना सकी है। वहीं दूसरी तरफ  ठेकेदारों ने भी बिना साइट बने ही टेंडर डाल दिया है क्योंकि करोड़ों रुपए की लागत से बनाए जाने वाले ग्रामीण क्षेत्र के 28 यूनीपोल साईटों को मामूली कीमत पर नीलाम किया जा रहा है। निगम ने 28 यूनीपोल साइटों की नीलामी के लिए प्रतिमाह 5 हजार रुपए की दर्ज निर्धारित की है। नजफगढ़ क्षेत्र की प्राईम लोकेशन वाली यूनीपोल साईटों के लिए भी मोटी कीमत तय की गई है।

नियर अंडर पास सेक्टर 23 द्वारका जैसी साईटों के लिए एक लाख रुपए प्रतिमाह की दर निर्धारित की गई है। पूरे नजफगढ़ क्षेत्र में मात्र 4 ऐसी साइटें हैं जहां से निगम को प्रतिमाह लाखों रुपए का राजस्व मिलेगा। ज्ञात रहे कि पहली बार निगम ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों तक लाभकारी योजनाओं, सूचनाओं की जानकारी के लिए एक करोड़ रुपए की लागत से 28 यूनीपोल साइटें बनाने जा रही है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You