मुजफ्फरगर सीमा से सटे जंगल में तीन शव मिलने से सनसनी

  • मुजफ्फरगर सीमा से सटे जंगल में तीन शव मिलने से सनसनी
You Are HereNational
Friday, November 01, 2013-2:46 AM

मेरठः यूपी के मेरठ जिले में पड़ने वाले गांव दादरी के जंगल में तीन लोगों के शव मिलने से क्षेत्र में सनसनी फैल गई है। जानकारी के मुताबिक शव गांव के जंगल में गन्ने के खेत से मिले हैं।

थाना दौराला क्षेत्र के अंर्तगत पड़ने वाले इस गांव में शव मिलने की इस घटना ने एक बार फिर से हर किसी को सोचने पर विवश कर दिया है। तीन शवों के एक साथ मिलने की सूचना पर डीआईजी के सत्यनारायण और एसएसपी ओंकार सिंह ने घटनास्थल पर पहुंच कर घटना के बारे में जानकारी हासिल की। स्थानीय लोगों द्वारा घटनास्थल मुजफ्फरनगर जनपद की सीमा पर स्थित होने के कारण इसे मुजफ्फरनगर दंगे से जोड़ कर देखा जा रहा है लेकिन पुलिस इससे इन्कार कर रही है। पुलिस इस मामले को जातिगत तथा सांप्रदायिक न मान कर आपराधिक प्रकृति की बता रही है।

पुलिस के अनुसार आज सुबह दादरी के जंगल में मजदूर काम कर रहे थे। तभी उनकी नजर गन्ने के खेत पर गई जहां तीन शव पड़े थे। तीनों गली हुई अवस्था में थे। सूचना पर पुलिस ने तीनों को पोस्टमार्टम के लिए भेजकर मामले की छानबीन शुए कर दी है। पुलिस ने प्रारंभिक छानबीन के आधार पर बताया कि झारखंड के हजारी बाग निवासी महेश यादव पुत्र बाबूलाल हजारी बाग से ट्रक में सरिया लादकर दिल्ली के लिए चला था। यह सरिया 18 अक्टूबर को दिल्ली में उतारा गया।

इसके बाद ट्रक का कहीं कोई पता नही चला। यह ट्रक जैसा कि ट्रक स्वामी ने पुलिस को बताया 20 अक्टूबर को मेरठ में देखा गया। बाद में यह ट्रक 22 अक्टूबर को मेरठ में खाली लावारिस हालत में थाना मवाना क्षेत्र से बरामद हुआ था। पुलिस के अनुसार मृतक के कब्जे से मिली पर्ची तथा वोटर आईडी के अनुसार उसकी शिनाख्त रकीब अंसारी पुत्र हुसैन अंसारी के रूप में हुई है। अन्य दो शवों की शिनाख्त ट्रक स्वामी ने मिन्टू पुत्र भुवनेश्वर एवं बाबू लाल यादव पुत्र महेन्द्र यादव के रूप में की है। इनमें बाबू लाल यादव ट्रक चालक है। (एजेंसी)


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You