आरुषि-हेमराज हत्या कांड: सीढिय़ों पर नहीं थे खून के निशान

  • आरुषि-हेमराज हत्या कांड:  सीढिय़ों पर नहीं थे खून के निशान
You Are HereNational
Monday, November 04, 2013-4:18 PM

नई दिल्ली : आरुषि-हेमराज हत्या कांड में छठे दिन की बहस में बचाव पक्ष ने कहा कि तलवार दंपति के मकान में सीढिय़ों पर खून के निशान नहीं थे। सीबीआई के 13 गवाहों ने भी इस मामले में कोई बयान कोर्ट में दर्ज नहीं कराए। इसके अलावा सीबीआई ने इंटरनेट राऊटर का मुद्दा भी कोर्ट में उठाया।

मामले की सुनवाई के लिए विशेष न्यायाधीश एस. लाल ने 6 नवंबर की तारीख नियत की है।बचाव पक्ष के वकील तनवीर अहमद मीर और मनोज शिशौदिया का कहना था कि सीबीआई का आरोप है कि घटना वाली रात तलवार दंपति का राऊटर बार-बार चला और बंद हुआ जिससे साफ होता है कि हत्याकांड के बाद तलवार ने इंटरनेट का यूज किया था।

 जबकि राऊटर अगले दिन दोपहर एक बजे भी ऐसा होता रहा। खुद अभियोजन की ओर से बतौर गवाह पेश हुए टेक्निकल एक्सपर्ट भूपेंद्र अवस्या ने इस स्थिति के बारे में कुछ स्पष्ट नहीं किया था। गवाह का कहना था कि सीबीआई यदि उसे तलवार का लैपटॉप, कंप्यूटर, राऊटर और आईएसपी उपलब्ध कराती को राऊटर के बार-बार चलने और बंद होने के कारण की जानकारी हो सकती थी।

बचाव पक्ष ने यह भी कहा कि अभियोजन की ओर से पुलिसकर्मियों समेत 13 गवाहों ने कभी अपने बयान में नहीं कहा कि सीढिय़ों पर खून के निशान थे। महिला दरोगा ने तो यह भी बयान दिया था कि वह खुद सीढिय़ों पर बैठी थीं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You