सांसद की दूसरी नौकरानी भी भर्ती, हालत गंभीर

  • सांसद की दूसरी नौकरानी भी भर्ती, हालत गंभीर
You Are HereNational
Thursday, November 07, 2013-1:03 PM

नई दिल्ली,(कृष्ण कुणाल सिंह): चाणक्यपुरी थाना पुलिस ने उत्तर प्रदेश के बाहुबली व जौनपुर के सासंद धनंजय सिंह की दूसरी नौकरानी मीना को भी पुलिस ने उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया है। उसके साथ भी मारपीट की गई थी।

जिस कारण उसकी हालत गंभीर बनी हुई है। वारदात के बाद डर के कारण वह धनजंय के घर से भाग गई थी,लेकिन पुलिस ने उसे मंगलवार को पकड़ उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया है।

पुलिस को दिए बयान में उसने भी नौकरो के साथ मारपीट की शिकायत की है। वहीं पुलिस ने नाबालिग नौकर के बयान पर दंपति को गिरफ्तार कर बुधवार को पटियाला कोर्ट में पेश किया और 5 दिन की पुलिस हिरासत में लेकर सबूत इक_ा करने की कोशिश कर रही है।

वहीं राखी के शव का बुधवार को पोस्टमार्टम नहीं हो सका। हाई प्रोफाइल मामला होने के कारण पुलिस ने मेडिकल बोर्ड द्वारा पोस्टमार्टम कराने का निर्णय लिया है। इस टीम में तीन डाक्टर राखी के शव का गुरुवार को पोस्टमार्टम करेंगे। उसके शव को लेडी हाॄडग अस्पताल में रखा गया है।

हत्या में इस्तेमाल लोहे का रॉड भी बरामद:
पुलिस ने चाणक्यपुरी स्थित सांसद के सरकारी आवास 175 से हत्या में इस्तेमाल लोहे की रॉड, लाठी भी बरामद कर लिया है। इसके अलावा वहां लगे सभी 20 सी.सी.टी.वी. कैमरे, सी.सी.टी.वी. फुटेज का रिकार्डिंग वाला डब्बा (डी.वी.आर.),डबल बेड के पौवे व लौहे के बने बारहसिंगा हिरण के सिंग आदि कई सामान जब्त कर लिया है। जिसे पुलिस कोर्ट में अहम सबूत के रूप में पेश करेगी।

अब पुलिस कुछ अन्य अहम सबूत जैसे प्रेस (आयरन) को जब्त करना चाह रही है, जिससे डॉ. जागृति, 17 वर्षीय नाबालिग नौकर और  मृतक नौकरानी राखी को गर्म करके दाग दी थी। जांच के दौरान नाबालिग नौकर के कमर से ऊपर पेट व दाहिने पैर पर और गुप्तांग के पास जलने के निशान हैं, जबकि राखी की पीठ व पेट पर जलाने के गहरे घाव पाए गए हैं।

पासवर्ड बिना डी.वी.आर. से नहीं मिल रहे सबूत: 
सांसद के आवास से जब्त डी.वी.आर. भी नहीं चल रहा है। 2 दिनों से कई पासवर्ड डालकर उसे चलाने की कोशिश की गई ताकि फुटेज से यह पता लगाया जा सके कि डॉ.जागृति दोनों की किस तरह पिटाई करती थी। पुलिस इस बात को लेकर भी परेशान है कि अगर डी.वी.आर. नहीं चलेगा तब पुलिस के लिए परेशानी बढ़ सकती है। पुलिस का कहना है डी.वी.आर. ठीक था।

डॉ.जागृति की लंबे समय की हरकतें व घटना वाले दिन का पूरा वाक्या फुटेज में कैद है। राखी की मौत की खबर की जानने के बाद 4 नवंबर को दिल्ली पहुंचने पर सांसद ने आवास में लगे सीसीटीवी कैमरे के डी.वी.आर. को खोलकर वहां से हटा दिया था।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You