‘नेपाल के रास्ते हो रही घुसपैठ को सख्ती से रोका जाए’

  • ‘नेपाल के रास्ते हो रही घुसपैठ को सख्ती से रोका जाए’
You Are HereNational
Thursday, November 07, 2013-4:00 PM

गोरखपुर: गोरक्षपीठ के उत्तराधिकारी एवं भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सांसद योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि भारत नेपाल सीमा पर सुरक्षा व्यवस्था और कड़ी होनी चाहिए क्योंकि सीमा खुली होने के कारण आतंकवादी घुसपैठ की आशंका बनी रहती है।

योगी आदित्यनाथ ने नेपाल सीमा से भारत में हो रही पाकिस्तान परस्त आतंकवादी तत्वों की कथित घुसपैठ पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए आज दावा किया कि पिछले डेढ वर्षो में 300 से अधिक आतंकवादियों ने नेपाल के रास्ते भारत में घुसपैठ किया है जो राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए गंभीर विषय है।

उन्होंने आरोप लगाया कि उत्तर प्रदेश और बिहार तथा केंद्र सरकार की तुष्टीकरण की पराकाष्ठा आतंकवाद को प्रेरित और प्रोत्साहित करने की हद तक पहुंच गई है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेतृत्व की यूपीए सरकार की अनदेखी के कारण ही नेपाल भारत विरोधी गतिविधियों का अड्डा बन गया है जहां से लगातार भारत विरोधी तत्व सक्रिय होकर पूरे देश को अस्थिर करने का षडयंत्र कर रह है। नेपाल के माओवादियों के संबंध चीन की कम्युनिस्ट सरकार और भारत के नक्सलवादी संगठनों से जगजाहिर है। इन सबके बावजूद माओवादियों से सम्बन्ध बनाने के लिए केंद्र सरकार और राजनेता इतने उतावले दिखाई दे रहे हैं।

योगी ने कहा कि यह सीधे सीधे भारत में नक्सलवादी हिंसा को बढाने की साजिश है। इसी प्रकार आतंकवादियों को भी भारत के अंदर घुसपैठ कराने का एक आसान रास्ता नेपाल बन चुका है। उन्होंने कहा कि भारत नेपाल सीमा को भारत विरोधी गतिविधियों का अड्डा नहीं बनने दिया जाएगा। हिजबुल मुजाहिदीन तथा अनेक आतंकवादी संगठन के गुर्गो की घुसपैठ को सरकारें गम्भीरता से लें और इसको सख्ती के साथ रोकें अन्यथा इसके खिलाफ आर पार की लड़ाई लड़ी जाएगी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You