आसाराम के आश्रम को वन विभाग कभी भी कर सकता है जमींदोज

  • आसाराम के आश्रम को वन विभाग कभी भी कर सकता है जमींदोज
You Are HereNational
Thursday, November 07, 2013-4:20 PM

ऋषिकेश/देहरादून: वन विभाग शिवपुरी रेंज के ब्रहमपुरी स्थित आसाराम आश्रम को जमींदोज नही कर सका है। सितम्बर में वन विभाग ने कहा था कि दो दिनों में आसाराम के अवैध आश्रम को कभी भी वक्त गिराया जा सकता है। वन विभाग ने इसके लिए जिलाधिकारी टिहरी से अतिरिक्त पुलिस बल की मांग की थी। आश्रम को गिराने के लिए वन विभाग को जिलाधिकारी का आदेश मिल चुका था। इसके बावजूद वन विभाग ने आश्रम को गिराने में दिलचस्पी नही ली।

आसाराम बापू ने वन विभाग की शिवपुरी रेंज ब्रहमपुरी तपोवन के पास आश्रम बना रखा है।  शिवपुरी रेंज के अन्तर्गत लीज संख्या 59 नीरगढ़ क्रम सं. 4 ब्रहमपुरी की लीज 1965 से 13 अगस्त 1970 तक संत लक्ष्मणदास के नाम स्वीकृत थी। आसाराम ने लीज की वसीयत में अपना नाम दर्ज कर आश्रम बना दिया। 1969 में लीज समाप्त हो गई। इसके बाद शासन ने उक्त जमीन को वन विभाग के सुपुर्द करने का आदेश दिया।

जिलाधिकारी टिहरी ने वन विभाग से आसाराम आश्रम को ध्वस्त करने को कहा। वन विभाग को जिलाधिकारी का आदेश पत्र मिला चुका था। वन प्रभाग नरेन्द्रनगर का कहना था कि दो दिनों के भीतर आश्रम को तोड़कर भूमि को कब्जे में ले लिया जाएगा। एक माह बाद भी वन विभाग ने अपनी भूमि को आश्रम के कब्जे से नहीं छुडा सका है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You