Subscribe Now!

आरुषि हत्याकांड: ‘हत्या की रात तलवार के घर में बाहरी लोग मौजूद थे’

  • आरुषि हत्याकांड: ‘हत्या की रात तलवार के घर में बाहरी लोग मौजूद थे’
You Are HereNcr
Saturday, November 09, 2013-8:32 AM

गाजियाबाद: सीबीआई के दावे को खारिज करते हुए राजेश और नूपुर तलवार के वकील ने शुक्रवार यहां सीबीआई अदालत में कहा कि यह साबित करने के ‘कई सबूत’ हैं कि डाक्टर दंपति के आवास पर उस रात बाहरी लोग मौजूद थे और उनके नौकरों हेमराज तथा कृष्णा ने फोन पर एक दूसरे से बात की थी।

बचाव पक्ष के वकील तनवीर अहमद मीर ने विशेष सीबीआई अदालत से कहा कि सेवा प्रदाता द्वारा उपलब्ध कराए गए काल डिटेल रिकार्ड के अनुसार राजेश तलवार के कंपाउंडर कृष्णा ने तलवार के क्लीनिक के लैंडलाइन नंबर से हेमराज के मोबाइल पर 15 मई 2008 की शाम दो बार फेान किया था।

मीर ने अदालत से कहा कि काल डिटेल से पता चलता है कि 15 मई 2008 को कृष्णा और हेमराज के बीच फोन पर बात हुई थी। पहला फोन तलवार के क्लीनिक से हेमराज के मोबाइल पर शाम करीब चार बजकर 58 मिनट पर गया जिस पर 10 मिनट बात हुई। और हेमराज के मोबाइल पर दूसरी काल करीब पांच बजकर 37 मिनट पर गई जो ढाई मिनट चली।

वकील ने दलील दी कि हेमराज को दो बार ऐसे समय फेान किया गया जब राजेश तलवार अपने क्लीनिक में नहीं बल्कि दिल्ली के हौजखास में थे।

मीर ने कहा कि कृष्णा राजेश का स्थायी सहायक था और वह तलवार के नोएडा स्थित क्लीनिक में उनके साथ समय बिताता था। काल डिटेल से संकेत मिलता है कि कृष्णा ने हेमराज को दो बार फोन किया क्योंकि उस समय मोबाइल टावर लोकेशन के अनुसार नूपुर नोएडा सेक्टर 22 में मौजूद थी।

सीबीआई ने मामला बंद करने की अपनी रिपोर्ट में कहा कि नौकरों कृष्णा, राजकुमार और विजय मंडल के बीच उस दिन फोन पर बात होने या आमने सामने मिलने की कोई जानकारी नहीं है। वकील ने कहा कि नोएडा पुलिस के सेवानिवृत्त डीएसपी केके गौतम के बयानों से भी पता चलता है कि उस रात तलवार के आवास पर कुछ अन्य लोग मौजूद थे।  सीबीआई की कहानी के अनुसार, उस रात घर में केवल चार लोग राजेश, नूपुर, आरुषि और हेमराज मौजूद थे।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You