सड़को की ऐसी हालत कि कार में जन्मा बच्चा

  • सड़को की ऐसी हालत कि कार में जन्मा बच्चा
You Are HereNational
Sunday, November 10, 2013-4:00 PM

पलवल: हरियाणा के निकटवर्ती गाँव से पलवल जिला अस्पताल मैं प्रसव के लिए लाई जा रही महिला ने अस्पताल परिसर में कार में ही बच्चे को जन्म दे दिया। इस बात से सरकार कि जच्चा-बच्चा सुरक्षा योजना कि एक बार फिर पोल खुल गई है। गाँव कि सड़क खराब होने के कारण हुई देरी के कारण जच्चा-बच्चा दोनों का ही जीवन मुश्किल में पड़ गया था। इतना ही  नहीं इससे महिला और उसके परिजनों को भी शर्मिंदगी का सामना करना पड़ा। बाद में महिला और नवजन्मे बच्चे को अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां अब दोनों कि हालत ठीक बताई गई हैं।

जानकारी के मुताबिक, पलवल जिला मुख्यालय से लगभग बीस किलोमीटर दूरी पर स्थित गाँव मुनीरगढ़ी निवासी अजय कि पत्नी मीना गर्भवती थी। मीना कि प्रसव पीड़ा होने पर सरकारी एम्बुलेंस को काल की गई। लेकिन व्यस्त होने के कारण एम्बुलेंस समय पर प्रसव पीड़िता को लेने नही जा सकी। इंतजार के बाद परिवार के लोगों ने गाँव से ही कार का इंतजाम किया, ताकि मीना को असपताल पहुंचाया जा सके। लेकिन गाँव से पलवल तक की सड़कें इतनी खराब और टूटी हुई हैं कि उन्हें रास्ते में काफी समय लग गया।

देरी तथा रास्ते में लगे हिचकोलों के कारण मीना ने अस्पताल के अंदर जाने से पूर्व अस्पताल परिसर में कार से उतरते समय ही बच्चे को जन्म दे दिया। लोगों कि भीड़ के सामने नग्न होने के कारण महिला को काफी शर्मिंदगी का सामना करना पड़ा। जिला अस्पताल में ड्यूटी पर मौजूद स्टाफ नर्स से इस बारे में पूछने पर उसने कुछ जवाब नहीं दिया। वही लेडी डॉक्टर रीना अग्रवाल ने शर्मिंदगी और विपरीत परिस्थितियों में बच्चे के जन्म के लिए महिला के परिवार के लोगों को हो दोषी ठहराया। डॉक्टर का कहान हैं कि घर से देरी से चलने के कारण यह स्थिति बनी है, जबकि महिला के पति अजय ने देरी का कारण एम्बुलेंस के नही मिलने तथा खराब टूटी सड़कों को बताया।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You