अधिवक्ताओं ने ‘राइट टू रिजेक्ट’ से मतदाताओं को दिखाई राह

  • अधिवक्ताओं ने ‘राइट टू रिजेक्ट’ से मतदाताओं को दिखाई राह
You Are HereUttar Pradesh
Monday, November 11, 2013-12:52 PM

देवरिया: उत्तर प्रदेश के देवरिया में अधिवक्ताओं ने अधिवक्ता संघ के चुनाव में वोटरों को ‘राइट टू रिजेक्ट’ का अधिकार प्रयोग कर मतदाताओं को राह दिखाई है। जिले में पहली बार 22 नवम्बर को दीवानी अधिवक्ता संघ के चुनाव हैं। एक सौ पचास मतदाता इस अधिकार का प्रयोग करेंगे। अधिवक्ताओं को ऐसा लगा कि अध्यक्ष समेत 27 प्रत्याशी वोट देने लायक नहीं है तो बैलेट पेपर के इस कालम पर अपनी मुहर लगा सकते हैं।

 

इस अधिकार का प्रयोग कर यहां के अधिवक्ता शायद रिकार्ड बनाने जा रहे हैं क्योंकि किसी चुनाव में अभी तक इस अधिकार का प्रयोग वोटरों को नहीं मिला था। गौरतलब है कि लोकसभा और विधानसभा चुनाव में मतदाताओं को इस अधिकार का अवसर मिला है लेकिन यहां के अधिवक्ताओं ने संघ के चुनाव में लागू कर औरो को राह दिखाने का काम किया है।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You