कांग्रेस की लड़ाई गरीबी और भूख से : सोनिया

  • कांग्रेस की लड़ाई गरीबी और भूख से : सोनिया
You Are HereNational
Friday, November 15, 2013-8:14 PM

खरगोन/रीवा : कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने शुक्रवार को कहा कि उनकी पार्टी की लड़ाई गरीबी व भूख के खिलाफ  है, मगर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की मध्य प्रदेश सरकार की सोच पूंजीपतियों का भला करने की है। मध्य प्रदेश के खरगोन और रीवा में अपनी जनसभाओं में सोनिया ने कहा कि उनकी सरकार गांव व शहरों की दशा बदलना चाहती है, कांग्रेस की लड़ाई भूख व गरीबी के खिलाफ  है, इसीलिए खाद्यान्न सुरक्षा बिल लाया गया है और अन्य योजनाएं चलाई जा रही हैं। मध्य प्रदेश में सड़क, बिजली, मध्यान्ह भोजन योजना सहित तमाम योजनाओं के लिए केंद्र सरकार द्वारा राशि दी गई, मगर वह विकास कार्यों पर खर्च होने के बजाय नेताओं के जेब में चली गई।

सोनिया गांधी ने भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी का नाम लिए बगैर कहा, ‘‘भाजपा नेताओं को अब दिन में भी कुर्सी के सपने आने लगे हैं, पार्टी के भीतर हाल यह है कि कुर्सी का लालच कुछ इस तरह सवार हो गया है कि नेता एक-दूसरे को नीचा दिखाने में लगे हैं।’’

सोनिया गांधी ने कहा, ‘‘वे सोचते हैं कि लच्छेदार बातों से दिल जीता जा सकता है, वे इस गलतफहमी में हैं। भारत ऐसा-वैसा देश नहीं है, सोच और विचार का नाम भारत है।’’ 

नेशनल क्राइम रिकार्ड ब्यूरो की रपट का हवाला देते हुए सोनिया ने कहा कि मध्य प्रदेश वह राज्य है, जहां महिलाओं पर देश में सबसे ज्यादा अत्याचार व बलात्कार हुए हैं। ऐसी सरकार से क्या आशा की जा सकती है जिसके मंत्रियों पर लोकायुक्त में मामले दर्ज हों और उनके खिलाफ  कार्रवाई न हुई हो।

राज्य में भाजपा की लगाता दो जीत पर सोनिया गांधी ने कहा, ‘‘आपने एक नहीं दो बार सरकार बनाने का मौका दिया, मगर यहां के हालात बदतर हो गए हैं। कुपोषण से बच्चों की मौत हो रही है, अनुसूचित जाति -जनजाति वर्ग और महलाएं असुरक्षित हैं। अल्पसंख्यकों के हितों का ध्यान नहीं रखा जा रहा है। किसान आत्महत्या करने को मजबूर हैं और गलत बिजली के बिल देकर उन्हें जेल भेजा गया है।’’

उन्होंने राज्य सरकार पर आरोप लगाया कि केंद्र सरकार की महात्मा गांधी रोजगार गारंटी योजना से बेरोजगार नौजवानों को काम नहीं मिला, बल्कि मशीनों व ठेकेदारों से काम कराया गया है। इसके अलावा कई अन्य योजनाओं के तहत राशि भेजी गई मगर वह उन लोगों तक नहीं पहुंची जिनके लिए भेजा गया था।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You